विज्ञान के चमत्कार देख खुश हुए छात्र

चलित विज्ञान प्रदर्शनी का छात्रों ने किया अवलोकन

पत्रिका
आलीराजपुर. जैव विविधता संरक्षण,पर्यावरण संरक्षण एप्को भोपाल के सहयोग से चिल्ड्रन साइंस सेन्टर इन्दौर की चलित विज्ञान प्रदर्शनी वाहन शनिवार को जवाहर नवोदय विद्यालय के प्रागंण में पहुंचा। इसमें विद्यालय के प्रभारी प्राचार्य चैनसिंह पटेल ने प्रदशनी टीम का स्वागत किया। प्रदशनी टीम के संयोजक राजेन्द्रसिंह व उनकी टीम ने बताया कि प्रदर्शनी के माध्यम से हमारा यह प्रयास है कि स्कूली छात्र-छात्राओं को रोचक ज्ञान वर्धक, वैज्ञानिक सोच वृद्धि को विकसित करना ही हमारा प्रमुख उद्देश्य है। इस कार्यक्रम में सर्वप्रथम राजेन्द्र सिंह ने विज्ञान के नाम पर जादूगरों द्वारा लोगों को भ्रमित करने का खुलासा करते हुए बताया कि संसार में घटित हो रही प्रत्येक चिजो के पिछे साइंस होता है। इन्होंने विभिन्न प्रयोगों के माध्यम से बच्चों के सामने इसकी पुष्ठी भी की कि यह कोई जादू नहीं बल्की विज्ञान का चमत्कार है। तत्पश्चात दल की संचालक रेखा सिंह ने विभिन्न पोस्टर व मॉडलो की प्रस्तुती दी। जो कि जैव विविधता सरंक्षणए प्रयावरण सरंक्षण पर आधारित थी।
राशि नक्षत्रों की जानकारी पाकर ऐसा लगा कि दिन में तारे देखे
अंत में बच्चों के कोतूहल का केन्द्र बना हुआ तारामण्डल में बच्चों को सोरमण्डल,राशि नक्षत्र, चन्द्रमा इत्यादि विभिन्न बातों को दिखाया व समझाया गया। विद्यालय के छात्र मिहिर रामटेके ने बताया कि तारामण्डल में छुपे हुए सौरमण्डल व राशि नक्षत्रों की जानकारी पाकर हमें ऐसा लगा कि हमने दिन में तारे देखे। विद्यालय की कक्षा 12वीं की छात्रा प्रियंका ने बताया कि इस तरह से विज्ञान व पर्यावरण से जुड़ी प्रदर्शनी से हमेशा जिज्ञासा की भावना रही है। हमें आज बहुत ही खुशी मिल रही है कि हमें आज प्रदर्शनी देखने का मौका मिला व ऐसी प्रदर्शनी बार-बार आना चाहिए। इस अवसर पर विद्यालय के सत्यशिल पाण्डे, डीबी चिट्टा, मोहम्मद शोहेब, मोहम्मद आपाक, विलाद तायड़े, आशीष कुमार,जयश्री यादव, रिचा, अंजली, गगनदीप, कार्यालय अधीक्षक गुप्ता मुख्य रूप से उपस्थित थे। अंत में विज्ञान शिक्षक संतोष कुमार चौरसिया ने चिल्डन साइंस सेन्टर इन्दौर की समस्त टीम ने कलेक्टर गणेश शंकर मिश्रा, सहायक आयुक्त सतीश सिंह व जिले के उच्च शिक्षा अधिकारियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि हमारे लगभग 530 बच्चों को चलित विज्ञान प्रदर्शनी देखने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। इस प्रदर्शनी के द्वारा बच्चों के अन्दर वैज्ञानिक दृष्टिकोण का विकास होगा। इससे बच्चे अपने आसपास नित घटित हो रहे घटनाओं में विज्ञान को ढूंढऩे का प्रयास करेंगे।

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned