व्यापारी संघ के आह्वान पर नगर बंद

व्यापारी संघ के आह्वान पर नगर बंद

Arjun Richhariya | Publish: Sep, 06 2018 10:14:12 PM (IST) Alirajpur, Madhya Pradesh, India

´सुप्रीम कोर्ट के फैसले को बदलने पर किया आक्रोश व्यक्त, रैली निकालकर सौंपा आवेदन, बैनर हटाने की बात को लेकर जयस ने किया नपा का घेराव

आलीराजपुर. सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससी-एसटी एक्ट में झूठी शिकायतों को लेकर कुछ बदलाव किए गए थे, जिसमें सामान्य वर्ग के व्यक्ति को जमानत का प्रावधान था, जिसे देश के संपूर्ण राजनैतिक दलों द्वारा एक अध्यादेश लाकर बदल दिया गया है। जो न्याय व्यवस्था के विरुद्ध है।

इस बात को लेकर सपाक्स संगठन एवं सकल व्यापारी संघ के आव्हान पर आलीराजपुर नगर संपूर्ण रूप से स्वैच्छिक बंद रहा। बंद का आव्हान किसी भी संचार माध्यम से नहीं किया गया था ना ही संगठन के लोगों के द्वारा कोई प्रयास बंद को लेकर किए गए फिर भी बंद पूर्णत: सफल रहा। वहीं नगर पालिका द्वारा गत रात्रि को लगाए गए जयस संगठन के बैनर के साथ ही नगर में लगे संपूर्ण बैनर को रात्रि में हटा लिए गए। जिसके चलते जयस के कार्यकर्ता नाराज हो गए और उन्होंने नगर पालिका का घेराव कर दिया। सूचना मिलते ही थाना प्रभारी दिनेश सोलंकी, एसडीएम अशफाक अली पुलिस दल, बल के साथ नपा कार्यालय पहुंचे और जयस संगठन के कार्यकर्ताओं को समझाइश देने का प्रयास करते रहे।
चाय-नाश्ते के लिए तरसे लोग
सुबह से ही नगर बंद होने के कारण चाय, नाश्ता, पान सहित अन्य दुकानदारों द्वारा अपनी दुकाने बंद रखीं, जिसके चलते बाहर से आने वाले लोग चाय, पानी और नाश्ते के लिए तरसते रहे। स्थानीय बस स्टैंड पूरी तरह से बंद होने के कारण बाहर से आने वाले लोगों को तकलीफे उठाना पड़ी और उन्हें चाय-पानी भी नसीब नहीं हो पाया। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों से आए ग्रामीणों को भी किराना सामान दुकाने बंद होने के कारण नहीं मिल पाया।

सकल व्यापारी संघ ने निकाली रैली
तय कार्यक्रम के अनुसार, दोपहर 2 बजे बस स्टैंड से सकल व्यापारी संघ के द्वारा रैली निकाली गई, जिसमें नगर के बड़ी संख्या में नागरिकगण शामिल हुए। रैली का नेतृत्व ओच्छबलाल सोमानी व कमलेश काकड़ीवाला द्वारा किया गया। रैली मुख्य मार्र्ग से होते हुए प्रतापगंज मार्ग पहुंची, तभी जयस संगठन के कार्यकर्ता भी रैली के रूप मेंं सिनेमा चौराहे पर पहुंच गए व प्रशासन के खिलाफ बैनर जब्ती को लेकर नारेबाजी करने लगे। इस दौरान व्यापारी संघ की रैली को पुलिस प्रशासन द्वारा प्रतापगंज मार्ग पर करीब आधे घंटे तक रोके रखा व पुलिस द्वारा जयस कार्यकर्ताओं को समझाइश देते हुए कलेक्टर कार्यालय की ओर ले जाया गया। भारी मान मनोवल के बाद जयस कार्यकर्र्ता एसडीएम अली एवं एसडीओपी तोमर से बात करके राजवाड़ा मार्ग की ओर रवाना हो गए। इस दौरान पुलिस ने वहां का मार्ग भी बंद कर व्यापारी संघ की रैली को कलेक्टर कार्यालय की और रवाना किया।

प्रशासन को करना पड़ी जमकर मशक्कत
नगर बंद को लेकर प्रशासन पहले से ही मुस्तैद था। नगर के मुख्य मार्ग और चौराहों पर पुलिस जवान तैनात किए गए थे। वहीं पुलिस के वाहन नगर के चारों गश्त लगा रहे थे। आलीराजपुर थाना प्रभारी के अतिरिक्त समस्त थाना स्टाफ जहां एक ओर मुस्तैद था, वहीं एएसपी सीमा अलावा सहित अन्य आला अधिकारी पूरे घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए थे। एडीएम सुरेशचंद्र वर्मा, कलेक्टर गणेश शंकर मिश्रा, एसपी विपुल श्रीवास्तव बारिकी से मॉनीटरिंग करते हुए दिनभर के घटनाक्रम पर अधिकारियों से जानकारी लेते रहे। दोनों पक्षों के लोगों के द्वारा अपना-अपना विरोध व्यक्त करने के दौरान कहीं कोई अप्रिय स्थिति नहीं बन पाए इसके लिए प्रशासन को जमकर मशक्कत करना पड़ी।

जयस ने किया नपा का घेराव
आदिवासी संगठन जयस द्वारा एक्ट के समर्थन में बैनर नगर के मुख्य मार्गों पर लगाए गए थे, जिसे प्रशासन ने रात 12 बजे हटाते हुए नगर पालिका परिषद में ले जाया गया। इसकी सूचना मिलने पर जयस संगठन के कार्यकर्ताे एकत्रित होकर नगर पालिका में पहुंच गए व सीएमओ राजेन्द्र मिश्रा से बैनर की मांग करने लगे। इस दौरान नपा में जमकर हंगामा व नारेबाजी भी की गई। जयस संगठन के लोगों का कहना था कि बैनर लगाए गए थे, वे उन्हें वापस किए जाएं। जिस पर एसडीएम अशफाक अली ने बताया, चुनाव आयोग द्वारा आदेशित किए जाने के बाद बैनरों को हटाया है। जब एसडीएम सेे आदेश की कॉपी मांगी जिस पर कॉपी दी गई, जिसके बाद जयस कार्यकर्र्ता बैनरों की मांग को लेकर नपा के बाहर धरने पर बैठ गए।

Ad Block is Banned