कोर्ट में 31 मार्च तक गवाह, पक्षकारों के आने पर रोक, वकील ही निपटाएंगे पेशी

कोरोना वायरस को लेकर जिलेभर में स्वास्थ्य अमले के अलर्ट के बाद जिला न्यायाधीश ने कोर्ट परिसर को भी भीड़ मुक्त रखने की एडवायजरी जारी

By: kashiram jatav

Published: 19 Mar 2020, 01:17 AM IST

आलीराजपुर. कोरोना वायरस को लेकर आमजनों में जागृति फैलाई जा रही है। सामाजिक संगठनों द्वारा कोरोना वायरस से लडऩे के लिए काड़ा पिलाया जा रहा है। शासकीय आयुष विभाग की ओर से बच्चों को काड़ा पिलाकर साफ-सफाई रखने के निर्देश दिए गए हैं। नगर पालिका द्वारा भी नगर में साफ-सफाई का अभियान चलाया जा रहा है। कोरोना वायरस को लेकर जिलेभर में स्वास्थ्य अमले के अलर्ट के बाद जिला न्यायाधीश ने कोर्ट परिसर को भी भीड़ मुक्त रखने की एडवायजरी जारी की है।

उन्होंने वीडियों कान्फ्रेसिंग के जरिए सूचना जारी की है कि तमाम मामलो में 31 मार्च तक गवाह और पक्षकारों को कोर्ट आने की जरूरत नहीं है। उनके वकील ही संबंधित मामले संभालेंगे। हरसोला वणिक समाज की महिलाओं ने डॉ. वरुण सराफ की उपस्थिति में लोगों को एमजी रोड पर काड़ा पिलाया।

जरूरी काम होने पर कोर्ट में आएंगे वकील
जिला न्यायाधीश ने स्पष्ट निर्देश जारी किए है कि कोरोना वायरस को लेकर कोर्ट में कोई भीड़ जमा न हो। बेहद जरूरी मामलों की ही सुनवाई इन दिनों में होगी। जहां जरूरत होगी संबंधित वकील मामलों को निपटा लेंगे। न्यायाधीश ने आम जनता से कोरोना वायरस को लेकर अपील की है कि अनावश्यक तौर पर कोर्ट में एकत्रित न हो। साबुन से हाथों की सफाई करें। साथ ही मास्क, दुपटटा, कपड़े व अन्य का प्रयोग करें। आईसोलेशन वार्ड से लेकर क्वारेटाइन पीरियड के फाओअप को जांचा जा रहा है। बार एसोसिएशन के अध्यक्ष जगदीश गुप्ता ने बताया कि कोर्ट में एकत्रित होने पर रोक लगाई गई है। साथ ही तारीखे भी आगे बढ़ा दी है। उन्होंने बताया कि पक्षकारों को भी कोर्ट में नहीं बुलाया जाएगा। साथ ही जिन वकीलों का जरूरी काम होगा वहीं कोर्ट में आएंगे।

कोर्ट परिसर को साफ कर धुलवाया : नगर पालिका सीएमओ संतोष चौहान ने बताया कि हाईकोर्ट के निर्देश आने के बाद माननीय जिला न्यायाधीश द्वारा बुधवार को करोना वायरस के संबंध में एक बैठक बुलाई थी। इसमें सीएमएचओ डॉ. प्रकाश प्रकाश ढोके, डॉ. केसी गुप्ता व अधिवक्तागण शामिल थे। बैठक के बाद पूरे कोर्ट परिसर की साफ-सफाई करवाने के साथ ही उसे धुलवाया गया। बैठक में कोरोना वायरस को लेकर विशेष चर्चा की गई।
काड़ा पिलाया
आयुष विभाग के आयुर्वेद एवं होम्योपैथी औषधालयों की ओर से लोगों को त्रिकटु चूर्ण, तुलसी के पत्तों का काड़ा, संसमनी वटी व हौम्योयोपैथी औषधि आर्सेनिकम -30, 1662 लोगों को वितरण किया। इस दौरान कोराना वायरस से बचाव की जानकारी दी गई।

kashiram jatav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned