scriptAllahabad High Court: Ban on hearing process of ongoing criminal case | इलाहाबाद हाईकोर्ट: भूमि विक्रय करार के उल्लंघन को लेकर चल रहे आपराधिक केस की सुनवाई प्रक्रिया पर रोक, सरकार से जवाब-तलब | Patrika News

इलाहाबाद हाईकोर्ट: भूमि विक्रय करार के उल्लंघन को लेकर चल रहे आपराधिक केस की सुनवाई प्रक्रिया पर रोक, सरकार से जवाब-तलब

याची के खिलाफ गौतम बुद्धनगर के फेज तीन थाने में एफ आई आर दर्ज कराई गई है। इनका कहना है कि आपराधिक केस दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 368 के अंतर्गत बार है। शिकायतकर्ता को सिविल केस करना चाहिए। दोनों के बीच जमीन खरीद को लेकर करार हुआ जिसमें शर्त है कि करार की किसी भी शर्त का उल्लघंन किये जाने पर क्रेता को बकाया राशि देकर बैनामा कराने का अधिकार होगा।

इलाहाबाद

Published: August 01, 2022 11:34:32 pm

प्रयागराज: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जमीन विक्रय करार की शर्त के उल्लंघन पर परेशान करने के लिए दुर्भावनावश दर्ज आपराधिक केस की सुनवाई एवं जारी सम्मन आदेश पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने नोटिस जारी कर विपक्षी व राज्य सरकार से जवाब तलब किया है। याचिका की सुनवाई 5 सितंबर को होगी। यह आदेश न्यायमूर्ति श्रीप्रकाश सिंह ने हरिराज सिंह की याचिका पर दिया है।
याचिका पर अधिवक्ता अर्विंद कुमार मिश्र ने बहस की।
इलाहाबाद हाईकोर्ट: भूमि विक्रय करार के उल्लंघन को लेकर चल रहे आपराधिक केस की सुनवाई प्रक्रिया पर रोक, सरकार से जवाब-तलब
इलाहाबाद हाईकोर्ट: भूमि विक्रय करार के उल्लंघन को लेकर चल रहे आपराधिक केस की सुनवाई प्रक्रिया पर रोक, सरकार से जवाब-तलब
यह भी पढ़ें

तबाही मचाने को तैयार गंगा-यमुना, खतरे के निशान से 5 मीटर 5 मीटर नीचे, जिला प्रशासन ने अलर्ट किया जारी

याची के खिलाफ गौतम बुद्धनगर के फेज तीन थाने में एफ आई आर दर्ज कराई गई है। इनका कहना है कि आपराधिक केस दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 368 के अंतर्गत बार है। शिकायतकर्ता को सिविल केस करना चाहिए। दोनों के बीच जमीन खरीद को लेकर करार हुआ जिसमें शर्त है कि करार की किसी भी शर्त का उल्लघंन किये जाने पर क्रेता को बकाया राशि देकर बैनामा कराने का अधिकार होगा।
यह भी पढ़ें

हाईकोर्ट परिसर स्थित महाधिवक्ता कार्यालय वापस करने की उठी मांग

याची का कहना है कि उसने किश्त नहीं देकर खुद करार का पालन नहीं किया और आपराधिक केस दर्ज किया है। सिविल वाद दायर करने के बजाय परेशान करने के लिए याची के खिलाफ आपराधिक केस दर्ज किया गया है। जिसे रद्द किया जाए।
कोर्ट ने मुद्दा विचारणीय माना और विपक्षियों से जवाब मांगा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

पीएम मोदी का कांग्रेस पर बड़ा हमला, कितना भी 'काला जादू' फैला लें कुछ होने वाला नहींदेश के 49वें CJI होंगे यूयू ललित, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने नियुक्ति पर लगाई मुहरसुनील बंसल बने बंगाल बीजेपी के नए चीफ, कैलाश विजयवर्गीय की हुई छुट्टीसुप्रीम कोर्ट से नूपुर शर्मा को बड़ी राहत, सभी FIR को दिल्ली ट्रांसफर करने के निर्देशBihar Mahagathbandhan Govt: नीतीश कुमार ने 8वीं बार ली बिहार के CM पद की शपथ, तेजस्वी यादव बने डिप्टी सीएमनाम लिए बिना PM मोदी पर नीतीश का हमला, बोले- '2014 वाले 2024 में रहेंगे तब न, विपक्ष में हमलोग आ गए हैं अब सब होगा'Maharashtra: महाराष्ट्र में कैबिनेट विस्तार के बाद नाराजगी की खबर, CM से मुलाकात के बाद बच्चू कडू ने कही ये बातBihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमार ने 8वीं बार ली सीएम पद की शपथ, तेजस्वी बने डिप्टी CM, कैबिनेट विस्तार बाद में
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.