scriptAllahabad High Court dismissed the appeal of the state government | इलाहाबाद हाईकोर्ट: जिला विकास भवन जौनपुर में 29 साल से संविदा जनरेटर आपरेटर नियमित करने के आदेश पर हस्तक्षेप से इंकार | Patrika News

इलाहाबाद हाईकोर्ट: जिला विकास भवन जौनपुर में 29 साल से संविदा जनरेटर आपरेटर नियमित करने के आदेश पर हस्तक्षेप से इंकार

कोर्ट ने कहा है कि एकलपीठ के फैसले में कोई ग़लती नही है।जिस फैसले के आधार पर एकलपीठ ने याचिका स्वीकार कर नियमित करने पर विचार करने का निर्देश दिया है। सरकार ने उस फैसले के खिलाफ अपील दाखिल नहीं की।और यह भी बताने में असफल रहे कि याची केंद्र या राज्य सरकार की किस योजना या प्रोजेक्ट में पिछले 29साल से कार्यरत हैं।

इलाहाबाद

Published: April 20, 2022 01:07:28 pm

प्रयागराज: इलाहाबाद हाईकोर्ट की खंडपीठ ने जिला विकास भवन में पिछले 29 साल से जनरेटर आपरेटर, इलेक्ट्रीशियन के रूप में संविदा पर कार्यरत कर्मी को नियमित करने के एकलपीठ के फैसले पर हस्तक्षेप करने से इंकार कर दिया है। कोर्ट ने कहा है कि एकलपीठ के फैसले में कोई ग़लती नही है।जिस फैसले के आधार पर एकलपीठ ने याचिका स्वीकार कर नियमित करने पर विचार करने का निर्देश दिया है। सरकार ने उस फैसले के खिलाफ अपील दाखिल नहीं की।और यह भी बताने में असफल रहे कि याची केंद्र या राज्य सरकार की किस योजना या प्रोजेक्ट में पिछले 29साल से कार्यरत हैं।
इलाहाबाद हाईकोर्ट: जिला विकास भवन जौनपुर में 29 साल से संविदा जनरेटर आपरेटर नियमित करने के आदेश पर हस्तक्षेप से इंकार
इलाहाबाद हाईकोर्ट: जिला विकास भवन जौनपुर में 29 साल से संविदा जनरेटर आपरेटर नियमित करने के आदेश पर हस्तक्षेप से इंकार
खंडपीठ ने एकलपीठ के फैसले को सही करार दिया है और फ़ैसले के खिलाफ राज्य सरकार की विशेष अपील खारिज कर दी है। यह आदेश न्यायमूर्ति प्रीतिंकर दिवाकर तथा न्यायमूर्ति आशुतोष श्रीवास्तव की खंडपीठ ने राज्य सरकार की अपील पर दिया है। याची चंद्र मणि ने याचिका दायर कर सेवा नियमित करने की मांग की। कोर्ट ने जिलाधिकारी जौनपुर द्वारा याची को नियमित करने से इंकार करने के आदेश को रद्द कर दिया और विचार करने का निर्देश दिया था। सरकार का कहना था कि याची की नियुक्ति किसी पद के विरुद्ध नहीं की गई है।वह प्रोजेक्ट के तहत वर्कचार्ज कर्मचारी के रुप में तय वेतन पर नियुक्त है। इसलिए 2016की नियमावली इसपर लागू नहीं होगी।
यह भी पढ़ें

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा कि झूठ की बुनियाद पर खड़े व्यक्ति को कोर्ट में नहीं आना चाहिए

कोर्ट ने 1992से जनरेटर आपरेटर इलेक्ट्रीशियन का काम देख रहे याची को नियमित करने का निर्देश दिया था।जिसे अपील में चुनौती दी गई थी। सरकार का कहना था कि याची के वेतन का कोई बजट नहीं है।किसी पद के विरुद्ध नियुक्ति नहीं है।रेंटल आय से उसे भुगतान किया जाता है। एकल पीठ ने कहा कि किसी से 29सालों तक फिक्स वेतन पर काम नहीं लिया जा सकता। सरकार कर्मचारी का शोषण नहीं कर सकती। इसलिए याची की सेवा नियमित करने पर विचार किया जाय।इस आदेश को खंडपीठ ने सही माना है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: राहुल नार्वेकर की जीत के बाद एकनाथ शिंदे ने उद्धव ठाकरे पर साधा निशाना, बोले-अगर 10-15 विधायक संपर्क में हैं तो नाम बताएंBihar: पटना में नीतीश के 'Bulldozer प्लान' से मचा बवाल; पुलिस पर चले पत्थर, अफसरों के फूटे सिरAmravati Murder Case: दोस्त युसूफ खान की दगाबाजी ने ली उमेश कोल्हे की जान, हत्या के बाद अंतिम संस्कार में भी हुआ था शामिलआदिवासी महिला को जिंदा जलाने के मामले पर भड़के कमलनाथ, CM शिवराज से कह दी बड़ी बातMaharashtra Politics: महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष चुनाव में बीजेपी की जीत से किसे होगा फायदा और शिवसेना को कितनी होगी दिक्कतें; जानें पूरा समीकरणHema Malini को घर के निकलने में लगता है डर, वजह जानकर आप भी रह जाएंगे दंगReliance के शेयर होल्डर्स को बड़ा झटका, हफ्ते भर में 62,100.95 करोड़ कम हुआ मार्केट कैप, निवेशकों के डूबे करोड़ो रुपएकमलनाथ का असदुद्दीन ओवैसी बड़ा हमला, बोले- 'आप जिसकी मदद कर रहे हैं छुपकर कर रहे हैं, खुलकर सामने आइये'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.