scriptAllahabad High Court Life Sentence Means Imprisonment Till Last Breath | उम्रकैद का मतलब अंतिम सांस तक सजा : इलाहाबाद हाईकोर्ट | Patrika News

उम्रकैद का मतलब अंतिम सांस तक सजा : इलाहाबाद हाईकोर्ट

Allahabad High Court Verdict उम्रकैद की सजा के म्याने को परिभाषति करते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहाकि, यह राज्य सरकार का विवेकाधिकार है कि वह जेल में कम से कम 14 साल की सजा काटने के बाद आजीवन कारावास की सज़ा में छूट दें। लेकिन उम्रकैद या आजीवन कारावास की सजा का मतलब अभियुक्त की आखिरी सांस तक है।

इलाहाबाद

Published: May 06, 2022 11:17:53 am

उम्रकैद की सजा के म्याने को परिभाषति करते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहाकि, उम्रकैद की सजा अभियुक्त के प्राकृतिक जीवन तक है, जिसे कोर्ट के वर्षों की संख्या में तय नहीं किया जा सकता। हाईकोर्ट ने कहाकि, यह राज्य सरकार का विवेकाधिकार है कि वह जेल में कम से कम 14 साल की सजा काटने के बाद आजीवन कारावास की सज़ा में छूट दें। लेकिन उम्रकैद या आजीवन कारावास की सजा का मतलब अभियुक्त की आखिरी सांस तक है। यह आदेश न्यायमूर्ति सुनीता अग्रवाल और न्यायमूर्ति सुभाष चंद्र शर्मा की खंडपीठ ने महोबा जिले के कुलपहाड़ थाने के अंतर्गत 1997 में हुई हत्या के मामले में दाखिल फूल सिंह व अन्य (तीन अपीलों) को खारिज करते हुए दिया है।
उम्रकैद का मतलब अंतिम सांस तक सजा : इलाहाबाद हाईकोर्ट
उम्रकैद का मतलब अंतिम सांस तक सजा : इलाहाबाद हाईकोर्ट
निचली अदालत के फैसले को हाईकोर्ट ने बरकरार रखा

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने निचली अदालत के फैसले को बरकरार रखा। कोर्ट मामले में आरोपी बनाए गए फूल सिंह, कल्लू और जोगेंद्र व अन्य की ओर से दाखिल अपील पर सुनवाई कर रही थी। महोबा की जिला अदालत ने तीनों अभियुक्तों को हत्या सहित आईपीसी की अलग-अलग धाराओं में आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। तीनों आरोपियों ने निचली अदालत के फैसले को चुनौती थी। याचियों की ओर से कहा गया कि उन्हें जेल में रहते हुए 20-21 साल हो गए हैं। याचियों की मांग थी कि उन्हें छोड़ दिया जाए।
यह भी पढ़ें

सीएम योगी का तोहफा, यूपी के सभी गांव बनेंगे स्मार्ट, ग्रामीणों को मिलेगी फ्री वाई-फाई सुविधा

यह उचित नहीं है

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने पाया कि, मामला राज्य सरकार की ओर से बनाई गई नीति के अंतर्गत है। मामले में आरोपी फूल सिंह और कल्लू पहले से ही जेल में हैं, इसलिए कोर्ट ने दोनों याचियों के संबंध में कोई आदेश नहीं दिया। लेकिन इलाहाबाद हाईकोर्ट ने संबंधित अदालत को हरि उर्फ हरीश चंद्र और चरण नाम के अपीलकर्ताओं को हिरासत में लेने और शेष सजा काटने के लिए जेल भेजने का निर्देश दिया। कोर्ट के समक्ष याची कल्लू की ओर से तर्क दिया गया कि वह 20-21 साल जेल में काट चुका है। उसकी सज़ा की अवधि को देखते हुए उसे रिहा किया जाए। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इस पर स्पष्ट किया कि यह उचित नहीं है।
यह भी पढ़ें

High Security Number Plate : हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट अनिवार्य 15 मई तक लगवा ले नहीं तो खैर नहीं, भरना होगा भारी जुर्माना

एक अभियुक्त की मौत

सुनवाई में पांच अभियुक्तों में कल्लू, फूल सिंह, हरि और चरण को जय सिंह की हत्या करने का दोषी ठहराया गया था। मामले में एक अन्य आरोपी जोगेंद्र सिंह की मौत हो चुकी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

ताजमहल के बंद 22 कमरों का खुल गया सीक्रेट, ASI ने फोटो जारी करते हुए बताई गंभीर बातेंPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदीमहबूबा मुफ्ती ने कहा इनको मस्जिद में ही मिलता है भगवानMonsoon Update 2022: अंडमान-निकोबार पहुंचा मानसून, जानिए आपके राज्य में कब होगी बारिशGyanvapi Survey: ज्ञानवापी परिसर में जहां मिला शिवलिंग उसे अदालत ने तत्काल सील करने का दिया आदेश, जानें क्या कहा DM नेBCCI ने Women T20 Challenge के लिए टीमों का किया ऐलान, मिताली और झूलन को दिया बड़ा झटकाजातिगत जनगणना: भाजपा के विरोध के बावजूद सीएम नीतीश कुमार बिहार में जल्द बुलाएंगे सर्वदलीय बैठकUdaipur Chintan Shivir: राजस्थान में दंगे करवाने में भाजपा के बड़े नेताओं का हाथ, 'चिंतन' के बाद बोले सीएम गहलोत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.