scriptAllahabad High Court order POCSO Act is not for teenage romance | टीनएज रोमांस के लिए नहीं है पोक्सो : इलाहाबाद हाईकोर्ट | Patrika News

टीनएज रोमांस के लिए नहीं है पोक्सो : इलाहाबाद हाईकोर्ट

Allahabad High Court order न्यायमूर्ति राहुल चतुर्वेदी ने आगे कहा कि, भारत के संविधान के अनुच्छेद-15 के अनुसार, बच्चे को यौन शोषण, यौन उत्पीड़न और अश्लील साहित्य के अपराधों से बचाना, 1950 और बच्चों के अधिकारों का संरक्षण (पोक्सो) है।

इलाहाबाद

Published: February 18, 2022 12:28:50 pm

पोक्सो पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहाकि, टीनएज रोमांस के लिए पोक्सो नहीं बना है। इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने कहा कि, यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण अधिनियम किशोरों के रोमांटिक मामलों को सुलझाने के लिए नहीं है। हाईकोर्ट ने एक पॉक्सो आरोपी युवक को बेल दे दी। जिस पर यह आरोप था कि, 14 साल की लड़की के साथ भाग गया और उसके साथ एक मंदिर में शादी कर ली थी। ये युवक जो पहले नाबालिग था, दो साल तक लड़की के साथ रहा, इस दौरान लड़की ने एक बच्चे को जन्म दिया। अतुल मिश्रा की जमानत याचिका को स्वीकार करते हुए, न्यायमूर्ति राहुल चतुर्वेदी ने कहा कि, बढ़ती घटनाएं जहां किशोर और युवा वयस्क पॉक्सो अधिनियम के तहत अपराधों का शिकार होते हैं। अधिनियम की गंभीरता, एक ऐसा मुद्दा है जो इस अदालत की अंतरात्मा के लिए बहुत चिंता का विषय है।
टीनएज रोमांस के लिए नहीं है पोक्सो : इलाहाबाद हाईकोर्ट
टीनएज रोमांस के लिए नहीं है पोक्सो : इलाहाबाद हाईकोर्ट
यह भी पढ़ें

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने निठारी मामले की रिपोर्ट में देरी के लिए सीबीआई को फटकारा

बच्चों के अधिकारों का संरक्षण है पोक्सो

न्यायमूर्ति राहुल चतुर्वेदी ने आगे कहा कि, भारत के संविधान के अनुच्छेद-15 के अनुसार, बच्चे को यौन शोषण, यौन उत्पीड़न और अश्लील साहित्य के अपराधों से बचाना, 1950 और बच्चों के अधिकारों का संरक्षण (पोक्सो) है। हालांकि, समस्या अधिनियम के तहत दायर मामलों की एक बड़ी श्रृंखला किशोरों और किशोरों के परिवारों द्वारा दर्ज की गई शिकायतों/प्राथमिकी के आधार पर उत्पन्न होती है, जो प्रेम संबंधों के तहत दर्ज कराई जाती हैं।
यह अपने आप में दयनीय है - हाईकोर्ट

याचिकाकर्ता को जमानत देते हुए हाईकोर्ट ने कहा कि, नि:संदेह नाबालिग लड़की की सहमति का कानून की नजर में कोई महत्व नहीं है, लेकिन वर्तमान परिदृश्य में जहां लड़की ने बच्चे को जन्म दिया है और उसके पहले के बयान में उसने अपने माता-पिता के साथ जाने से इनकार कर दिया है। और पिछले चार से पांच महीनों से राजकीय बालगृह (बालिका) खुल्दाबाद, प्रयागराज में अपने नवजात बच्चे के साथ सबसे अमानवीय स्थिति में रह रही है, यह अपने आप में दयनीय है।
यह भी पढ़ें

पेंशन पर इलाहाबाद हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, डेली वेज कर्मियों को मिलेगी पुरानी पेंशन

लड़की और बच्चे रिहा करने का निर्देश

राजकीय बालगृह (बालिका), खुल्दाबाद, प्रयागराज के प्रभारी को पीड़ित लड़की को उसके बच्चे के साथ रिहा करने का निर्देश दिया। हाईकोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा कि बच्चे को माता-पिता के प्यार और स्नेह से वंचित करना बेहद कठोर और अमानवीय होगा। तथ्य यह है कि आरोपी और नाबालिग पीड़ित दोनों एक-दूसरे से प्यार करते थे और शादी करने का फैसला किया था।
पॉक्सो एक्ट क्या है जानें

इस कानून के दायरे में 18 साल से कम उम्र के बच्चों से सेक्सुअल बर्ताव आता है। ये कानून लड़के और लड़की को समान रूप से सुरक्षा प्रदान करता है। इस एक्ट के तहत बच्चों को सेक्सुअल असॉल्ट, सेक्सुअल हैरेसमेंट और पोर्नोग्राफी जैसे अपराधों से प्रोटेक्ट किया गया है। 2012 में बने इस कानून के तहत अलग-अलग अपराध के लिए अलग-अलग सजा तय की गई है। पॉक्सो कानून के तहत सभी अपराधों की सुनवाई, एक विशेष न्यायालय द्वारा कैमरे के सामने बच्चे के माता पिता या जिन लोगों पर बच्चा भरोसा करता है, उनकी मौजूदगी में करने का प्रावधान है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

PM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहापंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंद्वारकाधीश मंदिर में पूजा के साथ आज शुरू होगा BJP का मिशन गुजरात, मोदी के साथ-साथ अमित शाह भी पहुंच रहेVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्मओडिशा में "भ्रूण लिंग" जांच गिरोह का भंडाफोड़, 13 गिरफ्तारमां की खराब तबीयत के बावजूद बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे ओबेड मैकॉय, संगकारा ने जमकर की तारीफAnother Front of Inflation : अडानी समूह इंडोनेशिया से खरीद राजस्थान पहुंचाएगा तीन गुना महंगा कोयला, जेब कटना तयसुकन्या समृद्धि योजना में सरकार ने किए बड़े बदलाव, जानें क्या है नए नियम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.