नोशनल प्रोन्नति के साथ कर्मी को सेवानिवृत्त परिलाभों के भुगतान का निर्देश

कोर्ट ने विभाग को पेंशन आदि का निस्तारण तदनुसार करने का निर्देश दिया है।

By: Akhilesh Tripathi

Published: 12 Oct 2018, 10:08 PM IST

इलाहाबाद. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शिक्षा विभाग में तैनात चपरासी को 1 फरवरी 83 से सेवा में मानते हुए जूनियर क्लर्क पद पर 4 जनवरी 91 से पदोन्नति देने का निर्देश दिया है, क्योंकि याची सेवानिवृत्त हो चुका है। इसलिए नोशनल आधार पर सेवाजनित सभी परिलाभों का हकदार है। कोर्ट ने विभाग को पेंशन आदि का निस्तारण तदनुसार करने का निर्देश दिया है।


यह आदेश न्यायमूर्ति गोविन्द माथुर तथा न्यायमूर्ति सी.डी.सिंह की खण्डपीठ ने इलाहाबाद के प्रेम नारायण मिश्र की विशेष अपील को स्वीकार करते हुए दिया है। अपील पर अधिवक्ता के.के.मिश्र व वरूण मिश्र ने बहस की। एकलपीठ ने याची को प्रोन्नति देने का आदेश दिया था किन्तु वरिष्ठता उससे कनिष्ठ कर्मी की प्रोन्नति तिथि से तय करने को कहा था जिसे चुनौती दी गयी थी।


याची से जूनियर को 4 जनवरी 91 को प्रोन्नति दी गयी जबकि याची 1983 से सेवारत है। याची 1986 में निकाल दिया गया था जिसे श्रम न्यायालय ने रद्द कर दिया और बहाल करने का निर्देश दिया था, जिसे विभाग ने स्वीकार किया किन्तु 1983 से वरिष्ठता नहीं दी और जूनियरों को प्रोन्नति दे दी गयी। कोर्ट ने 83 से सेवा में मानते हुए सभी लाभ देने का आदेश दिया है।

 

BY- Court Corrospondence

Akhilesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned