पूर्व विधायक उदयभान करवरिया को झटका, इस मामले में हाईकोर्ट ने खारिज की याचिका

याचिका में दो गवाहों को जिरह के लिए फिर से तलब किए जाने की मांग की गई थी।

By: Akhilesh Tripathi

Published: 20 Jul 2018, 09:43 PM IST

Allahabad, Uttar Pradesh, India

इलाहाबाद. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जवाहर पंडित हत्याकांड में दो गवाहों को जिरह के लिए फिर से तलब किए जाने की मांग में दाखिल पूर्व विधायक उदयभान करवरिया की अर्जी खारिज कर दी है। यह आदेश न्यायमूर्ति रमेश सिन्हा ने दिया है। अर्जी में अभियोजन पक्ष के गवाह राजीव लोचन व राजेंद्र को जिरह के लिए फिर से तलब करने की मांग की गई थी। कहा गया था कि जब इन गवाहों का ट्रायल कोर्ट में बयान हुआ था, तब उदयभान करवरिया के अधिवक्ता के बीमार रहने के कारण उनसे जिरह नहीं हो सकी थी।

यह भी कहा गया कि दोनों चश्मदीद गवाह हैं इसलिए उनसे जिरह किया जाना न्यायहित में आवश्यक है। अर्जी का विरोध करते हुए अधिवक्ता स्वाति अग्रवाल ने कहा कि गवाहों के बयान के दो साल बाद सीआरपीसी की धारा 311 के तहत उन्हें जिरह के लिए फिर तलाब करने की अर्जी महज ट्रायल को लटकाने की नीयत से दी गई है।

दो साल पहले हुए बयान पर अब जिरह करने का कोई औचित्य भी नहीं है। साथ ही सुप्रीम कोर्ट से जवाहर पंडित हत्याकांड का ट्रायल अगस्त माह तक पूरा करने का निर्देश भी दिया है। ऐसे में यह अर्जी निरस्त किए जाने योग्य है क्योंकि गवाहों से जिरह की अनुमति देने से ट्रायल अनावश्यक रूप से लटकेगा। सुनवाई के बाद कोर्ट ने अर्जी खारिज कर दी।

 

प्रमुख सचिव परती भूमि विकास को अवमानना नोटिस जारी ‎
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आदेश के बावजूद बहजोई को संभल जिले का हेडक्वार्टर बनाने की अधिसूचना जारी करने पर प्रमुख सचिव परती भूमि विकास सुरेश कुमार को अवमानना नोटिस जारी किया है।
कोर्ट ने उनसे कहा है कि जानबूझकर आदेश नहीं मानने के सिए क्यों न उनके विरुद्ध अवमानना की कार्यवाही की जाए। यह आदेश न्यायमूर्ति मनोज कुमार गुप्ता ने डिस्ट्रक्ट सिविल कोर्ट बार एसोसिएशन व अन्य की याचिका पर अधिवक्ता अनूप त्रिवेदी को सुनकर दिया है। अधिवक्ता अनूप त्रिवेदी ने कोर्ट को बताया कि सरकार ने 23 जनवरी 2018 को संभल जिले का मुख्यालय बहजोई को बनाने की अधिसूचना जारी की जबकि हाईकोर्टने नौ अक्तूबर 2017 के आदेश में पवंसा को संभल का मुख्यालय बनाने को कहा है।

कोर्ट ने यह भी कहा कि जब तक पवंसा में जिला मुख्यालय की मूलभूत सुविधाएं नहीं जातीं, तब तक चंदौसी में अस्थायी रूप से जिला मुख्यालय काम करेगा। अधिवक्ता ने कहा कि इसके बावजूद प्रमुख सचिव ने बहजोई को जिला मुख्यालय बनाने की अधिसूचना जारी कर दी।

 

By- Court Corrospondence

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned