scriptallahabad high court said mother's right more for children | इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा-दादी की तुलना में बच्चों के लिए मां का अधिकार अधिक | Patrika News

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा-दादी की तुलना में बच्चों के लिए मां का अधिकार अधिक

न्यायमूर्ति राहुल चतुर्वेदी ने नाबालिक बच्ची सान्या शर्मा की तरफ से मां सीमा शर्मा द्वारा दायर एक बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर दिया है। दोनों बच्चे अपनी दादी के साथ रह रहे हैं। मां ने उनकी नैसर्गिक संरक्षक होने के नाते अभिरक्षा की मांग की थी। मामले के अनुसार सीमा शर्मा (बच्चों की मां) ने मार्च 2016 में कपिल शर्मा से शादी की थी। जिनकी मौत हो गई।इनसे 2 बच्चे पैदा हुए, जिसमें एक 5 साल की बेटी और ढाई साल का एक बेटा है।

इलाहाबाद

Published: April 23, 2022 08:59:41 am

प्रयागराज: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दो बच्चों की अभिरक्षा उनकी मां को सौंपते हुए कहा कि एक बच्चे के जीवन में विश्वास और भावनात्मक अंतरंगता की एक मजबूत नींव स्थापित करने के लिए उसको मां का प्यार बिना किसी शर्त के मिलना चाहिए। न्यायमूर्ति राहुल चतुर्वेदी ने नाबालिक बच्ची सान्या शर्मा की तरफ से मां सीमा शर्मा द्वारा दायर एक बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर दिया है। दोनों बच्चे अपनी दादी के साथ रह रहे हैं। मां ने उनकी नैसर्गिक संरक्षक होने के नाते अभिरक्षा की मांग की थी।
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा-दादी की तुलना में बच्चों के लिए मां का अधिकार अधिक
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा-दादी की तुलना में बच्चों के लिए मां का अधिकार अधिक
मामले के अनुसार सीमा शर्मा (बच्चों की मां) ने मार्च 2016 में कपिल शर्मा से शादी की थी। जिनकी मौत हो गई।इनसे 2 बच्चे पैदा हुए, जिसमें एक 5 साल की बेटी और ढाई साल का एक बेटा है। पति की आत्महत्या के मामले में सीमा शर्मा को 5 अन्य लोगों के साथ आरोपी बनाया गया है। मामले की जांच अभी चल रही है और अभी तक कोई चार्जशीट दाखिल नहीं की गई है। अपने पति की मृत्यु के बाद, श्रीमती शर्मा अपनी बहन के साथ मुरादाबाद में रहने लग गई। जबकि उसके छोटे बच्चे उनकी दादी ( दीपा शर्मा) के पास रह गए। इसलिए मां ने दोनों बच्चों की अभिरक्षा के लिए हाईकोर्ट का रुख किया।
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा

कानून का विशेष प्रावधान नाबालिग बच्चे की संपत्ति के अभिभावक होने के एक पिता के अधिकार को सुरक्षित रखता है। लेकिन वह बच्चे का अभिभावक नहीं है, अगर बच्चा पांच वर्ष से कम उम्र का है। कोर्ट ने कहा कि यह प्रावधान संरक्षकता के भेद में,अंतरिम कस्टडी के अपवाद को बताता है, और फिर निर्दिष्ट करता है कि जब तक बच्चा पांच साल से कम उम्र का है, तब तक बच्चे को मां की ही कस्टडी में रखा जाना चाहिए।

चुंकि मां और दादी के बीच नाबालिग बच्चों की कस्टडी को लेकर झगड़ा चल रहा है, इस कारण कोर्ट इस निष्कर्ष पर पहुंची कि मां उन बच्चों की प्राकृतिक अभिभावक होने के नाते, दादी या उनके पिता की बहन (बुआ) की तुलना में बहुत अधिक ऊंचे पायदान पर खड़ी है। एक बच्चे के जीवन में मां के प्रेम की आवश्यकता पर बल देते हुए, न्यायालय ने कहा ''बच्चे अपने माता-पिता के खेलने की चीजें नहीं हैं। उनका कल्याण सर्वाेपरि है और जब मां उनके साथ होगी तो उनकी अच्छी तरह से परवरिश की जाएगी।
एक बच्चे को कभी भी ऐसा महसूस नहीं होना चाहिए कि उन्हें मां का प्यार पाने की जरूरत है। यह सोच उनके दिल में जीवनभर के लिए एक खालीपन बना देगी। एक बच्चे के जीवन में विश्वास और भावनात्मक अंतरंगता की एक मजबूत नींव स्थापित करने के लिए एक मां का प्यार बिना शर्त मिलना चाहिए। अगर इस प्यार को रोक दिया जाता है, तो एक बच्चा इस प्यार को एक लाख अन्य तरीकों से ढूंढेगा। कभी-कभी वे अपने पूरे जीवनकाल में इसे खोजते ही रह जाते हैं।
यह भी पढ़ें

अधिवक्ता चेंबर से लड़की का अपहरण: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एसएसपी प्रयागराज व एसपी जौनपुर को लड़की की तलाश कर पेश करने का दिया निर्देश

हम अपने बच्चों को घर पर जो भावनात्मक नींव देते हैं, वह उनके जीवन की नींव है। हम घर के मूल्य और एक मां के प्यार की शक्ति को कम करके नहीं आंक सकते हैं।'' नतीजतन, बच्चों के प्रति एक मां और दादी के अधिकारों को तौलने के बाद, कोर्ट ने दादी की तुलना में प्राकृतिक अभिभावक होने के नाते एक मां के अधिकार में अधिक वजन पाया। इसलिए, दोनों बच्चों की कस्टडी उनकी मां सीमा शर्मा को सौंप दी गई। हालांकि, कोट ने कहा कि दादी, यदि चाहें, तो सप्ताह में एक बार यानि प्रत्येक शनिवार को दोपहर 12.00 बजे से शाम 05.00 बजे के बीच अपने पोते-पोतियों से मिल सकती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: अपनी पत्नी पर खूब प्रेम लुटाते हैं इस नाम के लड़केबगैर रिजर्वेशन कर सकेंगे ट्रेन में यात्रा, भारतीय रेलवे ने जारी की सूचीनाम ज्योतिष: इन 3 नाम की लड़कियां जहां जाती हैं वहां खुशियों और धन-धान्य के लगा देती हैं ढेरजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंधन के देवता कुबेर की इन 4 राशियों पर हमेशा रहती है कृपा, अच्छा बैंक बैलेंस बनाने में रहते है कामयाबआपके यहां रहता है किराएदार तो हो जाएं सावधान, दर्ज हो सकती है एफआईआर24 हजार साल ठंडी कब्र में दफन रहा फिर भी निकला जिंदा, बाहर आते ही बना दिए अपने क्लोनअंक ज्योतिष अनुसार इन 3 तारीख में जन्मे लोगों के पास खूब होती है जमीन-जायदाद

बड़ी खबरें

Uniform Civil Code: मोदी सरकार का अगला एजेंडा है समान नागरिक संहिता, उत्तरखंड से शुरुआत, राज्यों में मंथनआज केरल में दस्तक दे सकता है मानसून, यूपी-बिहार सहित कई जगह बारिश का अलर्टभारत और बांग्लादेश के बीच 2 साल बाद फिर शुरू हुई ट्रेन, कोलकाता से हुई रवानाब्राजील में लैंडस्लाइड और बाढ़ से 31 की मौत, हजारों लोग हुए बेघरIPL 2022 के समापन समारोह में Ranveer Singh और AR Rahman बिखेरेंगे जलवा, जानिए क्या कुछ खास होगाArmy Recruitment Change: 'टूअर ऑफ ड्यूटी' के तहत 4 साल के लिए होंगी भर्तियां, फिर 25% युवाओं का पूर्ण चयनRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'भारत बन सकता है Vehicle Scrapping का हब, हर जिले में शुरू होंगे 2 से 3 व्हीकल स्क्रैपेज सेंटर : नितिन गडकरी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.