इलाहाबाद हाईकोर्ट के सिटिंग जज का कोरोना संक्रमण से निधन

- कुछ दिनों पहले लखनऊ के पीजीआई में किया गया था भर्ती

By: Neeraj Patel

Published: 28 Apr 2021, 08:38 PM IST

प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट के सिटिंग जज जस्टिस वीरेंद्र कुमार श्रीवास्तव का COVID-19 के चलते निधन हो गया। कोरोनावायरस का पॉजीटिव टेस्ट होने के बाद उन्हें कुछ दिनों पहले लखनऊ के पीजीआई में भर्ती किया गया था, जहां उनका निधन हो गया। न्यायमूर्ति श्रीवास्तव ने वर्ष 1986 में कानून में अपनी डिग्री प्राप्त की और वर्ष 1988 में कानून में स्नातकोत्तर किया। उन्हें 2005 में उच्च न्यायिक सेवा में नियुक्त किया गया था। 2016 में उन्हें जिला एवं सत्र न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत किया गया। उन्हें 22 नवंबर, 2018 को इलाहाबाद हाईकोर्ट के अतिरिक्त न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया था और 20 नवंबर, 2020 को स्थायी न्यायाधीश बनाया गया था। उनका कार्यकाल दिसंबर 2023 में समाप्त होने वाला था।

न्यायमूर्ति श्रीवास्तव के निधन से हाईकोर्ट मे शोक की लहर दौड़ गई। न्यायमूर्ति श्रीवास्तव का जन्म एक जनवरी 1962 मे हुआ। 1986 में विधि स्नातक व 1988 में विधि परास्नातक डिग्री हासिल करने के बाद वकालत शुरू की और 2005 में न्यायिक सेवा में चयनित हुए। 2016 में जिला जज प्रोन्नत हुए। वह 20 सितंबर 2016 से 21 नवंबर 2018 तक प्रमुख सचिव विधि रहे। 22 नवंबर 2018 को इलाहाबाद हाईकोर्ट के न्यायाधीश नियुक्त हुए। इनका कार्यकाल 31 दिसम्बर 2023 तक था।

ये भी पढ़ें - कोविड-19 पर हाईकोर्ट के 12 निर्देश, जिन्हें हर हाल में योगी सरकार को मानना ही होगा

कोरोना संक्रमित होने के बाद उन्हें लखनऊ एसपीजीआई ले जाया गया। जहां इलाज के दौरान उन्होंने अंतिम सांस ली। सेवारत न्यायमूर्ति श्रीवास्तव के निधन की खबर फैलते ही अधिवक्ताओं, न्यायाधीशों, न्यायिक अधिकारियों व कर्मचारियों में शोक की लहर दौड़ गई। सोशल मीडिया में शोक प्रकट करने व श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लग गया। पार्थिव शरीर अंतिम संस्कार के लिए उनके गृह जनपद महराजगंज ले जाया गया।

Corona virus
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned