फायरिंग और बमबाजी से दहल उठा इलाहाबाद विश्वविद्यालय के आस पास का इलाका

पुलिस हमलावरों की कर रही तलाश

By: Sunil Yadav

Published: 12 Aug 2018, 06:08 PM IST

इलाहाबाद. जिले के कर्नलगंज थाने से थोड़ी दूर स्थित डायमंड जुबली हॉस्टल में शुक्रवार की रात अज्ञात हमलावरों द्वारा की गई बमबाजी और फायरिगं से हॉस्टल समेत पूरा इलाका दहल उठा। हमले में हॉस्टल में खड़ी एक स्कॉर्पियों क्षतिग्रस्त हो गई। हमलावरों के जाने के बाद हॉस्टल के छात्रों ने कर्नलगंज थाने पहुंच कर मामले में कार्रवाई की मांग की। हालांकि इस हमले में कोई हताहत नहीं हुआ।


मिली जानकारी के मुताबिक घटना रात करीब 12 बजे की है। जब डायमंड जुबली हॅास्टल के बाहर पहुंचे अज्ञात हमलावरों ने परिसर के अंदर ताबड़तोड़ बम फेंके। इतना ही हमलावलों ने बम फेंकने के साथ ही कई राउंड फायरिंग भी की। बम के धमाकों और गोलियों की आवाज से हॉस्टल के छात्र समेत इलाके के लोग सहम गए। जानकारी यह भी है कि जब तक हॉस्टल के छात्र बाहर निकले हमलावर फरार हो गए। जिसके बाद छात्रों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। सूचना पर कर्नलगंज थाने की फोर्स भी मौके पर पहुंच गई।


जांच के दौरान पता चला कि बम से हुए हमले में हॉस्टल परिसर में खड़ी एक स्कॉर्पियो क्षतिग्रस्त हो गई। पुलिस की पूछताछ में हमलावरों के बारे में कोई कुछ नहीं बता सका। इसके बाद दर्जनों की संख्या में हॉस्टल के छात्र कर्नलगंज थाने पहुंच गए। सीओ कर्नलगंज आलोक मिश्रा ने बताया कि हमलावरों के निशाने पर कौन था, इसका अभी पता नहीं चल सका है। हॉस्टल के पास लगे सीसीटीवी कैमरा की फुटेज देखकर हमलावरों को चिह्नित किया जा रहा है। उनका कहना है कि आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। फायरिंग और बम फेंके जाने के सवाल पर उन्होंने कहा बम फेंके जाने की बात सामने आई है लेकिन फायरिंग की नहीं।

वहीं पुलिस सूत्रों की मानें तो हॉस्टल का एक छात्र इस बार छात्रसंघ चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहा है। ऐसे में हो सकता है कि विपक्षियों ने दहशत फैलाने के इरादे से घटना को अंजाम दिया हो। क्योंकि रात के वक्त बम फोड़ने का मकसद समझ नहीं आ रहा है। वो भी ऐसी जगह जहां कोई मौजूद नहीं था।

Show More
Sunil Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned