सेना खाली कराएगी अपनी लीज पर दी गई करोड़ों की जमीन व बंगले ,जारी किया नोटिस

सेना की जमीन पर लीज की शर्तों का उल्लंघन

प्रयागराज। संगम क्षेत्र में लेटे हुए हनुमान मंदिर के आसपास सेना की जमीन को लेकर उठापटक शुरू हुई । जिसके बाद सेना शहर भर में अपनी लीज पर दी गई जमीनों और बंगलों पर बेहद सख्त दिख रही है। सेना की ओर से सालों पहले लीज पर जो बंगले और जमीन दिए गए थे।सेना अब उन्हें बढ़ाने के पक्ष में नहीं दिख रही है। लीज की शर्तों का उल्लंघन करने वाले दर्जनभर मामले रक्षा संपदा विभाग में पहुंचे हैं। जिनको सेना ने नोटिस जारी किया है। अब जल्द ही सेना अपनी जमीनों पर कब्जा शुरू करेगी।

लीज के उल्लंघन की शिकायत
दरअसल सालों पहले सेना के बंगले और जमीन लीज पर दिए जाने का काम होता था। लीज पर देते समय सेना द्वारा अपनी संपत्तियों के लिए कुछ शर्तें रखी जाती थी। लीज की जमीनों पर बिना अनुमति किसी भी तरह का कोई भी निर्माण नहीं हो सकता है। उसे किसी को भी बेचा नहीं जा सकता है। उसके बावजूद भी कई जमीनों पर अवैध तरीके से निर्माण की शिकायत सेना के पास पहुंची है। सेना ने कई ऐसे भी स्थान चिन्हित किए हैं जहां व्यवसायिक गतिविधियां भी चलाई जा रही हैं। ऐसे ही एक मामले में बीते 31 दिसंबर को रक्षा संपदा विभाग ने लोकमान्य तिलक लोक सेवा समिति एलोपीबाग को दी गई जमीन अपने कब्जे में लेने का फैसला किया है।

इसे भी पढ़े -हाईकोर्ट के वकील 16 जनवरी को नहीं करेंगे न्यायिक काम , प्रदेश व्यापी हड़ताल का एलान


जमीन व बंगले खाली कराने का नोटिस
सेना की करोड़ों की संपत्ति लीज पर है। जिसे अब सेना वापस लेने चल रही है। ऐसे लोगों को रक्षा संपदा विभाग बंगले व जमीन खाली करने की नोटिस भी दे चुका है। दरअसल सेना को जमीनों की जरूरत है। कहीं पर फौजियों के लिए आवास बनाने हैं, तो कहीं सेना अपने अन्य काम शुरू करना चाहती है। इसलिए सेना अपनी पुरानी जमीनों पर हुए कब्जे हटा रही है। जिसके चलते अब पुराने बंगलों और मकानों की लीज बढ़ाए जाने की संभावना कम दिख रही है। सेना उन जमीनों और बंगलों को खाली कराने जा रही है। जिसे उसने लीज पर दिया था। लीज धारकों को बंगलो को खाली कराने के लिए सेना ने नोटिस जारी किया है।


कोर्ट से लेकर रक्षामंत्री तक पंहुचा मामला

गौरतलब है की बीते दिनों संगम क्षेत्र में सेना ने कई मंदिर ढहा दिए थे। साथ ही आस -पास लगने वाली दुकानों को भी तोड़ दिया था। वही बड़े हनुमान मंदिर को लेकर विवाद हाईकोर्ट से रक्षा मंत्री के यहाँ तक पंहुचा है। जिसमे कोर्ट ने आगामी मार्च तक मंदिर से अतिरिक्त जमीन खाली करने को कहा है। वही मंदिर के महंत का दावा है की रक्षा मंत्री राज नाथ सिंह ने मंदिर को जमीन लीज पर देने का आश्वाशन दिया है।

प्रसून पांडे Desk/Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned