कोरोना से जान गंवाने वाले वकीलों के परिवारों को 5 लाख की मदद, बार एसोसिएशन का फैसला

इलाहाबाद हाईकोर्ट बार एसोसिएशन की कार्यकारिणी ने निर्णय लिया है कि एक अप्रैल 2021 के बाद दिवंगत सभी वकीलों के परिजनों को पांच लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी। इसके अलावा पहले की तरह अस्पताल में भर्ती मरीजों की भी इलाज में मदद होगी।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

प्रयागराज. कोहराम मचा रहे कोरोना की दूसरी लहर के बीच कोरोना की चपेट में आए आए वकीलों की मदद के लिये इलाहाबाद हाईकोर्ट बार एसोसिएशन सामने आया है। बार एसोसिएशन ने फैसला किया है कि एक अप्रैल 2021 के बाद दिवंगत सभी वकीलों के आश्रितों, परिजनों या नामित को पांच लाख रुपये की आर्थिक समायता दी जाएगी। इसके अलावा पहले की तरह अस्पतालों में इलाज करा रहे कोरोना पीड़ित अधिवक्ताओं को पहले की तरह चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जाएगी। लगातार हो रही मौतों को देखते हुए मदद का निर्णय लिया गया है। जानकारी के मुताबिक इलाहाबाद हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के करीब 30 से अधिक वकीलों की अब तक कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो चुकी है।


तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमा और लगातार हो रही मौतों के बीच इलाहाबाद हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने कार्यकारिणी में प्रस्ताव पारित कर यह निर्णय लिया है। दिवंगत वकीलों केा आर्थिक सहायता देने के लिये कागजात भी जमा कर लिये गए हैं। इसके अलावा कोरोना पीड़ित इलाजरत अधिवक्ताओं की भी मदद की जाएगी।


कार्यकारिणी की बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि अस्पताल में भर्ती बार एसोसिएशन के अधिवक्ता अपना पूरा डिटेल एसोसिएशन के मोबाइल लंबर 945061389 या 7785804544 पर भेजें ताकि उन्हें आर्थिक सहयोग आरटीजीएस के जरिये दिया जा सके। मैसेज में नाम, रजिस्ट्रेशन नंबर, बैंक अकाउंट डिटेल, आईएफएससी कोड व बार एसोसिएशन का कंप्यूटर क्रमांक लिखकर दोनों में से किसी एक मोबाइल नंबर पर भेजना होगा। कार्यकारिणी में यह प्रस्ताव भी पारित किया गया कि प्रयागराज प्रशासन जनहित याचिका में पारिज हाईकोर्ट के आदेश का अनुपालन सुनिश्चित करे और वैवाहिक स्थलों और स्कूलों को मरीजों के इलाज के लिये तैयार रखे।

coronavirus
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned