अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी पर जान से मारने की धमकी का आरोप लगा

arun ranjan

Publish: Sep, 17 2017 03:39:31 (IST) | Updated: Sep, 17 2017 05:44:44 (IST)

Allahabad, Uttar Pradesh, India
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी पर जान से मारने की धमकी का आरोप लगा

कुशमुनि ने प्रधानमंत्री और सीएम से लगाई सुरक्षा की गुहार

 

इलाहाबाद.  कुशमुनि ने अखिल भारतीय अखाडा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरी पर जान से मारने की धमकी देने का आरोव लगाया है। कुशमुनि का कहना  है कि शुक्रवार की मध्यरात्रि में यह धमकी अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरी द्वारा दिलवाई गयी है। साथ ही उन्होने ये भी कहा कि धमकी देने वालों ने कहा कि सीएम योगी और अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष आपस में रिश्तेदार हैं, बोलोगे तो हत्या करा दी जायेगी। इसे लेकर कुशमुनि ने  प्रधानमंत्री और सीएम से सुरक्षा की मांग की है।

कुशमुनि का कहना है कि  कुछ दिन पहले अखाड़ा परिषद की ओर से 20 ढोंगी बाबाओं की फर्जी लिस्ट जारी की गई थी। उस फर्जी लिस्ट में मेरा भी नाम डाला गया था। इसके बाद मैने अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरी को नोटिस भेजी थी। जिसके बाद नरेंद्र गिरी तिलमिला गए हैं। उसके बाद से मैं लगातार अखाड़ा परिषद के खिलाफ बोल रहा हूं। जिस पर  लोगों की ओर से पूरा समर्थन मिल रहा है। अब अखाड़ा परिषद के सदस्य हाशिये पर आ गए हैं। 

आवाज दबाना चाहते हैं अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष

कुशमुनि का कहना है कि खुद के खिलाफ उठती आवाज को दबाने के लिए नरेंद्र गिरी ने मुझे जान से मारने की धमकी दिलवाई है। कुश मुनि ने बताया कि 15.16 सितम्बर की मध्यरात्रि करीब डेढ बजे करीब चौदह पंद्रह अज्ञात लोग दो फार्चूनर गाडियों से सवार होकर सिविल लाइन रोडवेज बस स्टेशन के सामने सिद्धेश्वरी पीठ मंदिर पर आये। उन्होंने मुझे धमकी देते हुए कहा कि अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरी के खिलाफ उगलना बंद कर दो। अगर तुम नरेंद्र गिरी के खिलाफ जाओगे तो तुम्हारी हत्या करवा दी जायेगी।

धमकी देने वालों ने यह भी कहा कि महंत नरेंद्र गिरि को भारतीय जनता पार्टी में कमजोर मत समझना। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और महंत नरेंद्र गिरि आपस मे रिश्तेदार हैं। इसके बाद मैने कहा कि महंत नरेंद्र गिरि से कह दो कि अपने रिश्तेदार योगी आदित्यनाथ से कह कर मुझे तोप से उडवा दें। जब तक मै जिन्दा रहूँगा भ्रष्ट महंत नरेंद्र गिरि और भ्रष्ट अखाडा परिषद के खिलाफ मेरा अभियान बंद नही होगा । मैं अखाडो और महंत नरेंद्र गिरि की सच्चाई जनता के सामने ला कर रहूंगा। कुश मुनि का कहना है कि यदि मेरे साथ कोई दुर्घटना होती है तो इसके तथाकथित अखाडा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि और उसके सहयोगी जिम्मेदार होगें। मेरी आकस्मिक मृत्यु होती हैए मेरी हत्या होती है तो इसकी जाँच उत्तर प्रदेश की पुलिस नही बल्कि सी बी आई करे। इस दौरान उन्होंने महंत नरेन्द्र गिरि की काल डिटेल निकाल जांच करने की अपील की। साथ ही महंत नरेन्द्र गिरि और आनंद गिरि का नार्को टेस्ट करा छानबीन करने को कहा। उन्होंने कहा कि कमिश्नर और डीएम के माध्यम से प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से खुद की सुरक्षा की पत्र लिख मांग की है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned