कंपनी के निदेशक व प्रबंध निदेशक को राहत, डिस्चार्ज प्रार्थना पत्र दाखिल करने का निर्देश

Akhilesh Kumar Tripathi

Publish: Sep, 10 2018 10:54:36 PM (IST)

Allahabad, Uttar Pradesh, India

इलाहाबाद. इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने मेसर्स आनंद एग्रो केन इण्डिया लिमिटेड अलीगढ़ के प्रबंध निदेशक व निदेशक के विरुद्ध दाखिल आरोप पत्र को चुनौती देने वाली याचिका पर याचीगण को निचली अदालत में डिस्चार्ज प्रार्थना पत्र दाखिल करने का निर्देश दिया है।

न्यायालय ने डिस्चार्ज प्रार्थनापत्र के निस्तारण तक याचीगण के विरुद्ध उत्पीड़नात्मक कार्रवाई पर रोक लगा दी है। यह आदेश न्यायमूर्ति शशिकांत ने कंपनी के प्रबंध निदेशक एस.एन.चतुर्वेदी व निदेशक राजू चतुर्वेदी की याचिका पर दिया है।

मामले के अनुसार याचीगण के विरुद्ध वर्ष 2012 में पीसीएफ के मैनेजर ने केन्द्र सरकार द्वारा अनुसूचित वस्तु अधिनियम चीनी की लेबी सुगर आपूर्ति के नियंत्रण आदेश का उल्लंघन करने पर धारा 3/7 ई.सी.एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज करायी थी, जिसमें विवेचना के पश्चात 21 फरवरी 13 को आरोप पत्र दाखिल किया गया जिस पर निचली अदालत ने 16 अप्रैल 18 को संज्ञान लिया जिसे याचिका में चुनौती दी गयी है।

याची के अधिवक्ता का तर्क था कि 15 अक्टूबर 13 को कन्ज्यूमर अफेयर फूड व पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन नयी दिल्ली ने जिलाधिकारी अलीगढ़ को प्रकरण में दण्डात्मक कार्यवाही पर रोक लगाने का अनुरोध किया गया, जिसकी सूचना संबंधित थानाध्यक्ष व जिलाधिकारी को भी दी गयी। इसके बावजूद आरोप पत्र दाखिल कर दिया गया। न्यायालय ने याचिका को निस्तारित कर दिया।

 

 

BY- Court Corrospondence

Ad Block is Banned