बारिश के बाद नाले में बह गया था बच्चा, तीन दिन बाद मिला शव, डिप्टी सीएम ने परिजनों को ये दिलाया भरोसा

बारिश के बाद नाले में बह गया था बच्चा, तीन दिन बाद मिला शव, डिप्टी सीएम ने परिजनों को ये दिलाया भरोसा

Sarweshwari Mishra | Publish: Jul, 14 2018 11:31:24 AM (IST) | Updated: Jul, 14 2018 05:35:29 PM (IST) Allahabad, Uttar Pradesh, India

बारिश का कहर : तेज बारिश के दौरान अनिकेत गुप्ता और साथी शिखर सहित चार बच्चे विकास विद्यालय की दीवार गिरने से नाले की चपेट में आ गये थे।

इलाहाबाद. शहर के कर्नलगंज थाना क्षेत्र के सलोरी इलाके में बुधवार की रात तेज बारिश परिवार पर कहर बनकर आई और परिवार के चिराग को बुझा गई। बुधवार की रात नाले में बहे बारह साल के बच्चे का शव दो दिन बाद मिल सका । गुस्से और गम के बीच परिजनों और स्थानीय लोगों ने बच्चे का शव पुलिस को सौंपा । सलोरी के ओमगायत्री नगर का रहने वाला शिखर तेज़ बारिस में नाले में बह गया। जिसकी तलाश पुलिस जलपुलिस गोताखोर लगे रहे बारिश का पानी कम होने के बाद शिखर का शव नाले के पास बनी पुलिया के नीचे से बरामद हुआ। दर्दनाक हादसे से शिखर के परिजन बदहवास है। बेटे का शव देखते ही पूरा परिवार बिलख पड़ा।

 

मौके पर तैनात कर्नलगंज इंस्पेक्टर और स्थानीय लोगों ने किसी तरह से परिवार के लोगों को शांत कराया। शव को कब्जे में लेकर मेडिकल के लिए भेज दिया गया।गौरतलब है कि बुधवार की रात हुई तेज बारिश के दौरान ओमगायत्री नगर के रहने वाले घनश्याम गुप्ता का बेटा अनिकेत गुप्ता और पड़ोसी साथी शिखर सहित चार बच्चे विकास विद्यालय की दीवार गिरने से नाले की चपेट में आ गये थे। हालांकि दो बच्चों को स्थानीय लोगों ने बचा लिया था। जबकि अनिकेत गुप्ता की मौत होने के बाद शव बरामद कर लिया था। लेकिन शिखर का शव नही मिल सका था।

 

दर्दनाक हादसे के बाद सरकार के किसी नुमाइंदे के मौके पर न आने से लोगो मे गुस्सा है। हालाकि पारिवारिक सूत्रों की माने तो डिप्टी सीएम केशव प्रसाद ने परिजनों से फोन पर बात की और मदद का दिलासा दिया। जबकि स्थानीय विधायक और सांसद के न आने से लोग नाराज है। वही जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री राहत कोष से मृतक बच्चों के परिजनों को चार-चार लाख देने की घोषणा की है । जहां हादसे से पूरे इलाके में हड़कम्प मचा है। वहीं सपा कांग्रेस के नेताओं ने पंहुच कर परिजनों को ढांढस बधाया और सरकार से बीस बीस लाख की आर्थिक सहायता की मांग की।

By-Prasoon Pandey

Ad Block is Banned