कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अभिनेता राजबब्बर की बढ़ी मुश्किलें ,कोर्ट में सरेंडर ...

राजधानी के वजीरगंज थाने में दर्ज है मामला

प्रयागराज | पोलिंग बूथ में घुस कर मतदान अधिकारी से मारपीट करने के मुकदमे में कोर्ट में उपस्थित न होने पर स्पेशल कोर्ट (एमपीएमएलए) ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और अभिनेता राजबब्बर के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था । सोमवार को इस मामले की तारीख है घटना दो मई 1996 की लखनऊ के वजीरगंज थाने की बताई जा है। आरोप है कि तत्कालीन सपा प्रत्याशी राजबब्बर मतदान स्थल में घुस आए और मतदान अधिकारी पर फर्जी वोट डलवाने का आरोप लगाया।

इस बात से इंकार करने पर राजबब्बर और उनके साथ आए अरविंद यादव ने पीठासीन अधिकारी को मारापीटा था। वादी श्रीकृष्ण सिंह ने मारपीट और आचार संहिता के उल्लंघन की धारा सहित इन 143,332,353,323,504,188 धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

मुकदमे का मूल अभिलेख वजीरगंज थाने से गायब हो गया था। सीजेएम के आदेश पर विवेचक अयोध्या प्रसाद वर्मा ने प्रमाणित छाया प्रति कोर्ट में 11 मार्च 2003 में दाखिल किया था। स्पेशल कोर्ट ने राजबब्बर को नोटिस जारी किया था। इसके बावजूद उपस्थित नहीं हुए ।

कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर पर यह मामला उस समय दर्ज हुआ जब वह समाजवादी पार्टी में थे । राज बब्बर बीती शाम प्रयागराज पहुंचे हैं। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने उनका जमकर स्वागत किया । कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर राज एमपी एमएलए की विशेष अदालत में पेश होंगे और उनके साथ कांग्रेस के कई बड़े नेताओं के होने की संभावनाएं जताई जा रही है।राज बब्बर की पेशी से पहले शहर में कांग्रेस सांसद प्रमोद तिवारी पहुचें हैं। स्थानीय कार्यकर्ताओं का भारी जमावड़ा होने की संभावना देखेते हुए जिला न्यायलय में फ़ोर्स तैनाती आदेश दिए गये है ।

बता दें की सुप्रीमकोर्ट के आदेश पर राज्यों में विशेष अदालते बनाई गई है जहाँ पर विधायकों सांसदों के मामले की सुनवाई की जा रही है जिसके चलते प्रदेश भर के नेताओं कि पेशी प्रयागराज के विशेष न्यायलय में हो रही है।

प्रसून पांडे
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned