रेड जोंन में भी यूपी बोर्ड की कॉपियां जांची जाएगी , ग्रीन और ओरेंज जोन में चल रहा मूल्यांकन

- कोरोना वायरस की महामारी के चलते एशिया के सबसे बोर्ड का मुल्यांकन हो रहा है प्रभावित

प्रयागराज | उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट कक्षा की कॉपियों का मूल्यांकन रेड जोन में भी 19 मई से शुरू होगा। कंटेनमेंट स्थित स्कूल में मूल्यांकन केंद्रों पर मूल्यांकन स्थगित रहेगा और इस इलाके से परीक्षकों को भी नहीं बुलाया जा सकेगा। इससे पहले ग्रीन जोन में 5 मई और ऑरेंज जून में 12 मई से मूल्यांकन शुरू हुआ था ।इस संबंध में माध्यमिक शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव आराधना शुक्ला ने आदेश जारी कर दिया है। इसकी जानकारी यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव ने दी है।

कोरोना से प्रभावित हुआ मूल्यांकन
कोरोना वायरस की महामारी के चलते लॉकडाउन में एशिया की सबसे बड़ी बोर्ड परीक्षा का मुल्यांकन प्रभावित हुआ है। जबकि की योगी सरकार में बोर्ड की परीक्षा को सबसे कं समय में पूरा कराने में बोर्ड के अधिकारी और शिक्षा विभाग स्फाल रहा है। लॉकडाउन में यूपी में आगरा ,लखनऊ ,सहारनपुर, कानपुर नगर मुरादाबाद , फिरोजाबाद , गौतम बुद्ध नगर , बुलंदशहर ,मेरठ, रायबरेली ,वाराणसी ,बिजनौर ,अमरोहा, संत कबीर नगर ,अलीगढ़ मुजफ्फरनगर ,रामपुर ,मथुरा और बरेली जोन में 20 और ऑरेंज जोन के 36 जिलों में कॉपियां जांचने का काम शुरू हो चुका

ओरेंज और ग्रीन जोन जाँची जा रही है कॉपियां
इसके पहले डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया था कि ग्रीन जोन में कॉपियों का मूल्यांकन का कार्य सही गति से चल रहा है ।मूल्यांकन के बाद जल्द से जल्द रिजल्ट घोषित करने के लिए भी टीम बनाई गई है । ताकि मूल्यांकन पूरा होते ही रिजल्ट में देरी ना हो डिप्टी सीएम ने बताया कि ग्रीन जोन के 20 जिलों में मूल्यांकन का कार्य शुरू हो चुका है। और ओरेंज जोंन के 36 जिलों में भी मूल्यांकन शुरू हो गया है। लॉकडाउन के बाद रेड जोन के जिलों में हॉटस्पॉट कंटेनमेंट एरिया को छोड़कर शहर से दूर सुरक्षित क्षेत्रों में मूल्यांकन केंद्र बनाकर का कॉपियों का मूल्यांकन शुरू हो जायेगा।

प्रसून पांडे
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned