यूपी के बाहुबली के यहां ताबकतोड़ छापेमारी , चेचरे भाई समेत दो गिरफ्तार

लंबे से थे फरार , क्राइम ब्रांच को मिली बड़ी सफलता

प्रयागराज। लॉक डाउन के दौरान पूर्व सांसद अतीक अहमद के करीबियों के यहां बड़ी छापेमारी की कार्यवाही की गई है। इस दौरान अतीक के दो करीबियों को गिरफ्तार किया गया है। जबकि अतीक के एक रिश्तेदार के यहां छापेमारी में क्राइम ब्रांच को खाली हाथ लौटना पड़ा।

प्रदेश का बहुचर्चित जैद खालिद अपहरण कांड में वांछित चल रहे अतीक अहमद के चचेरे भाई रशीद उर्फ़ नीलू और खालिद जफर को गिरफ्तार किया है। जबकि अतीक अहमद के साढू इमरान के घर छापेमारी के दौरान कोई नहीं पाया गया है। दो सालों से फरार चल रहे नीलू और खालिद की गिरफ्तारी क्राइम ब्रांच के लिए बड़ी कामयाबी मानी जा रही है।

बता दें कि 8 जनवरी 2013 को शहर के धूमनगंज थाने में 15 लोगों के खिलाफ प्रॉपर्टी डीलर जैद खालिद ने अपहरण लूट मारपीट का मुकदमा दर्ज कराया था। जैद का ने आरोप लगाया था कि 22 नवंबर 2018 की सुबह 7 बजे इमरान अतीक अहमद के साढू सद्दाम, अली अहमद , मोहम्मद अहमद, हमदान, फैशल ,तालिब ,खालिद जफर (अतीक अहमद की बहन का दामाद) अरशद, मोहम्मद राशिद उर्फ नीलू, विजय राय साबिर ने जैद का अपहरण करके देवरिया जेल ले गए जहां पर उससे80 हजार रूपये नगद और सोने का ब्रेसलेट छीना था। जेल में अतीक अहमद व उसके साथियों ने मोहम्मद जैद को बुरी तरह से पीटा था ।


वही मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस ने आरोपी तालिब को गिरफ्तार किया था। जबकि एक अरशद ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। फरहान पहले से जेल में बंद था। बाद में पुलिस ने हमदान को भी गिरफ्तार किया। लेकिन नीलू और खालिद जफर लंबे समय से फरार चल रहे थे। जिन्हें बीती आधी रात के बाद छापेमारी कर क्राइम ब्रांच ने उठाया है। देवरिया जेल में बंद अतीक अहमद के कई कारनामे सुर्खियों में आए जिनमें लखनऊ के प्रॉपर्टी डीलर का अपहरण कर संपत्ति हथियाने और मोहम्मद जैद के साथ जेल में मारपीट करने के मामले ने प्रदेश भर में हड़कंप मचा दिया था।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अतीक अहमद को अहमदाबाद जेल शिफ्ट किया गया। जबकि उनका भाई मोहम्मद अशरफ 4 सालों से फरार है। वही देवरिया जेल में लखनऊ के व्यापारी के अपहरण कांड में अतीक अहमद का बेटा भी सीबीआई के निशाने पर है। धूमनगंज पुलिस के मुताबिक़ दोनों की लंबे समय से तलाश थी ,दोनों को जेल भेजने की करवाई चल रही है।

प्रसून पांडे Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned