अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों से बेहतर होगा इस बार उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड का होगा परिणाम

अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों से बेहतर होगा इस बार उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड का होगा परिणाम

Prasoon Kumar Pandey | Publish: Nov, 10 2018 05:07:26 PM (IST) Allahabad, Allahabad, Uttar Pradesh, India

प्रदेश में प्रधानाचार्य के रिक्त पदों को जल्द भरा जायेगा,भर्ती में होगी पारदर्शिता

प्रयागराज : प्रदेश के राज्य विश्वविद्यालय और उनसे सम्बद्ध महाविद्यालयो की होने वाली परीक्षा में केंद्र का निर्धारण अब कुलपति स्तर पर होगा ।जिसके शासन से दिशा निर्देश जारी कर दिया है। साथ ही महाविद्यालय में सेमेस्टर परीक्षा प्रणाली को भी लागू कर दिया गया है। यह जानकारी शनिवार प्रयागराज दौरे पर आए प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने पत्रकारों को दी। उन्होंने पत्रकारों से बताया कि प्रदेश के महाविद्यालयो में प्रधानाचार्यो की बहुत कमी थी ।जिसको पूरा करने के लिए सरकार के द्वारा प्रयास किया गया है।

दिनेश शर्मा ने बताया की प्रदेश में 903 डिग्री कालेज के शिक्षकों को स्क्रूटनी के माध्यम से उनका नियमतिकरण किया गया। साथ डिग्री कालेज में प्रधानाचार्यो की नियुक्ति के लिए कैबिनेट की बैठक में नियम में संशोधन कर नियम में सरलता लायी गयी है।जिससे प्रधानाचार्य के रिक्त पदों को जल्द से भरा जा सके।

साथ ही अहम् जानकारी देते हुए बताया की अब डिग्री कालेजो में अध्यापकों की नियुक्ति के लिए एक साफ्टवेयर बनाया गया है। जिसके माध्यम से किया अप्लाई करते समय यह जान सकेंगे की किस महाविद्यालय में किस विषय के लिए स्थान रिक्त है।जिससे नियुक्ति सम्बन्धी पारदर्शिता बनी रहे।साफ्टवेयर से होने वाली नियुक्ति के सम्बंध में उपमुख्यमंत्री ने बताया कि यह देश मे ऐसा प्रयोग पहली बार हो रहा है।जो अध्यापकों की अर्हता के अनुरूप उनकी नियुक्ति सम्बंधित कालेज में हो जाएगी। उप मुख्यमंत्री ने पत्रकारों को बताया कि युवाओ के रोज़गारपरक शिक्षा मिले लखनऊ में 200 करोड़ों रुपए की लागत से महात्मा गांधी रोजगार सृजन पीठ की स्थापना की गई है ।जहां पर बच्चे पढ़ कर वहीं से रोजगार प्राप्त करेंगे वहां पर कैम्पस सिलेक्शन जैसी सुविधाएं होंगी।

उन्होंने यह भी बताया कि सभी विश्वविद्यालयों के कुछ कोर्स सामान्य चले जिससे विद्यार्थी रोज़गार से जुड़ सके इसके लिए सभी विश्वविद्यालयों के कुलपति से बैठक की गई है और नियमित पाठ्यक्रम चलाने की बात की गई है। उन्होंने कहा कि इस बार माध्यमिक शिक्षा परिषद के परीक्षा एनसीईआरटी पाठ्यक्रम पर होगी ।जिसका परिणाम देखने को मिलेगा कहा कि अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों से बेहतर इस बार उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड प्रयागराज का भी परिणाम आएगा।

Ad Block is Banned