यूपी में होने वाले उपचुनाव से पहले धनकर समाज की हुंकार, मांगे पूरी न हुई तो 18 मार्च विधानसभा का घेराव

यूपी में होने वाले उपचुनाव से पहले धनकर समाज की हुंकार, मांगे पूरी न हुई तो 18 मार्च  विधानसभा का घेराव

Prasoon Pandey | Publish: Feb, 16 2018 01:06:30 AM (IST) Allahabad, Uttar Pradesh, India

धनकर समाज के लोगो ने कहा मांगे नही मानी तो प्रदेश भर में होगा प्रदर्शन

इलाहाबाद उत्तर प्रदेश के दो महत्वपूर्ण संसदीय क्षेत्र के उपचुनाव से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ को धनगर समाज के लोगो के विरोध का सामना करना पड़ सकता है।अनुसूचित जाति के धनगर समाज के लोगो ने धनगर जाति को जाति प्रमाण जारी करने की मांग को लेकर को धनगर महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. धनगर के नेतृत्व में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सम्बोधित ज्ञापन दिया। उन्होने चेतावनी दी है कि यदि सरकार निर्देश नहीं जारी करेगी तो 18 मार्च को लखनऊ विधान सभा का घेराव करेंगे।उन्होंने ज्ञापन में कहा कि अपनी हकों की लड़ाई के लिए धनगर(गड़ेरिया) समाज अपने अधिकारों के लिए कानपुर शहर से लखनऊ तक की हजारों की संख्या में पद यात्रा निकालकर विधान सभा का घेराव करेेंगे।

उन्होंने मांग किया है कि प्रदेश सरकर धनगर समाज को संविधान में प्रदत्त अधिकारों के तहत अनुसूचित जाति का प्रमाण पत्र जारी नहीं कर रही है। यूपी सरकार के जिलाधिकारी व तहसीलदार अपने स्तर प्रमाण जारी नहीं कर रहे हैं। शासनादेश अनुसूचित जाति, जनजाति आयोग एवं हाईकोर्ट इलाहाबाद द्वारा धनगर समाज की अनुसूचित जाति की अनुसूची में दर्ज धनगर जाति को गड़रिया की उपजाति मान्य किया है।बता दे की इसके पहले भी देश के अलग अलग हिस्सों में धनकार समाज अपने अधिकारों के आन्दोलन करता रहा है।

जेपी धनगर ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार ने पाॅंच शासनादेश 2013 से 2017 के बीच जारी किये है । लेकिन शासनादेश को जिलाधिकारी एवं तहसीलदार शासनादेश को तवज्जो नहीं दे रहे है। अब सरकार अपने अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही भी नहीं कर रही है। उमेश धनगर अधिवक्ता व भानुप्रताप धनगर ने बताया कि 18 मार्च 2018 की तिथि निश्चित कर दी है। धनगर समाज के लोगों को अनुसूचित जाति के जाति प्रमाण पत्र जारी नहीं किये एवं धनगर जाति विरोधी जिलाधिकारी एवं तहसीलदारों के खिलाफ कार्यवाही शासनादेश के उल्लंघन के तहत नहीं की गई तो धनगर समाज तय तिथि पर कानपुर से लखनऊ तक पदयात्रा कर आन्दोलन की शुरूआत करेगा।

Ad Block is Banned