जिला पंचायत सदस्य पर कार्बाइन से हुआ हमला,शूटर ने घेर कर चलाई गोली

जिला पंचायत सदस्य पर कार्बाइन से हुआ हमला,शूटर ने घेर कर चलाई गोली
criminal

Prasoon Kumar Pandey | Publish: Jun, 19 2019 11:54:53 AM (IST) Allahabad, Allahabad, Uttar Pradesh, India


लगातार बढ़ रहे अपराध ने बढ़ाई दहशत

प्रयागराज। जिले में हर दिन हो रहे अपराध से लोग हैरान है । एक बार फिर जिले में बड़े वारदात की साजिश के साथ जिले को दहलाने की कोशिश की गई है । दरअसल बीते सोमवार को झूंसी थाना अंतर्गत हरिहरवन तिराहे पर बीडीसी सदस्य राजकुमार और उनके भाई अशोक यादव की गाड़ी पर एक शूटर ने फायरिंग की जिसका सीसीटीवी फुटेज वायरल हुआ। जिसमें फायरिंग करते हुए शूटर को देखा गया। लेकिन और चौकाने वाली तस्वीर तब सामने आई जब शूटर के हाथों में देखे जा रहे असलहे को कार्बाइन होने का दावा किया गया ।

घेर कर की गई थी फायरिंग
वारदात के बाद सीसीटीवी फुटेज में शूटर को हाथ में कार्बाइन से हमला करने का दावा अशोक यादव ने किया है । जानकारी के अनुसार अपराधी वाराणसी की ओर भाग निकले थे उनके वाराणसी में होने की बात कही जा रही है । पुलिस और क्राइम ब्रांच लोकेशन के आधार पर दबिश की कार्यवाही करने में जुटी हुई है। झूंसी थाना अंतर्गत छतनाग के रहने वाले अशोक यादव और उनके भाई राजकुमार यादव की गाड़ी पर सोमवार को सुबह शूटरों ने हमला किया था । अशोक यादव की गाड़ी को चारों तरफ से घेर कर हमलावरों ने वारदात को अंजाम दिया था लेकिन इस घटना में अशोक यादव और उनके भाई बाल.बाल बच गए थे।लेकिन उनके निजी सुरक्षा गार्ड को पेट में गोली लगी थी जिसका इलाज एक निजी अस्पताल में कराया जा रहा है।

ब्लाक प्रमुख पर लगा आरोप
घटना के बाद अशोक यादव ने आरोप लगाया था कि उन पर कार्बाइन से हमला किया गया लेकिन इसे कोई मानने को तैयार नहीं था लेकिन घटना स्थल पर लगे सीसीटीवी फुटेज में जब शूटरों को देखा गया तो असलहा भी कार्बाइन जैसा ही दिखा । वारदात के बाद अशोक यादव ने ब्लाक प्रमुख अरुणेंद्र यादव उर्फ डब्बू उसके भाई चंद्रजीत यादव अमर यादव व तीन अज्ञात पर एफ आई आर दर्ज कराई है। हालांकि इस पूरे मामले पर एसपी गंगा पार ने का कहना है कि कार्बाइन की पुष्टि अभी नहीं की जा सकती है आरोपियों की तलाश की जा रही है क्राइम ब्रांच भी शूटर के तलाश में जुटी है।

1996 में चला था अत्याधुनिक हथियार
जिले में पहली बार 1996 में समाजवादी पार्टी के तत्कालीन विधायक जवाहर पंडित पर एके 47 से फायरिंग की गई थी। और इस घटना में उनकी मौत हो गई थी,इस हत्या काण्ड में करवरिया बंधु चार वर्षो से जेल में बंद है ।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned