प्रयाग स्टेशन पर ट्रेन रद्द होने पर यात्रियो ने किया बवाल, रेलवे प्रशासन के छूटे पसीने

प्रयाग स्टेशन पर ट्रेन रद्द होने पर यात्रियो ने किया बवाल, रेलवे प्रशासन के छूटे पसीने

arun ranjan | Publish: Dec, 07 2017 11:03:41 PM (IST) Allahabad, Uttar Pradesh, India

कोहरे के कारण आठ जोड़ी ट्रेन हैं रद्द , यात्रियों को उठानी पड़ रही है काफी परेशानी

इलाहाबाद. रेलवे प्रशासन ने कोहरे के कारण प्रयाग स्टेशन से हो कर जाने वाली आठ जोड़ी ट्रेनों को रद्द कर दिया है। इससे नाराज यात्रियों ने आज प्रयाग स्टेशन पर जमकर हंगामा किया। यात्रियों के हंगामें को देख रेलवे अधिकारियों के पसीने छूट गए। ऐसे में तत्काल आरपीएफ और जीआरपी को बुलाकर मामला शांत कराने का प्रयास किया गया। संबंधित जानकारी रेल प्रशासन को देकर किसी तरह मामला शांत कराया गया।

ठंड में कोहरे के कारण दर्जनों ट्रेनें अपने निर्धारित समय से काफी विलंब से चल रही हैं। इसके कारण रेलवे ने विभिन्न रूट की कई दर्जन ट्रेन फरवरी 2018 तक के लिए रद्द कर दिया है। इसमें लखनऊ मंडल के प्रयाग स्टेशन से होकर चलने वाली आठ जोड़ी ट्रेनें भी शामिल हैं। जिसमें अप-डाउन ऊंचाहार, कानपुर सेंट्रल प्रयाग, प्रयाग बरेली पैसेंजर, लखनऊ प्रयाग, गाजीपुर डीएमयू, प्रयाग फैजाबाद को रद्द कर दिया गया है।

ट्रेनों के रद्द होने से प्रतिदिन ऊंचाहार, कानपुर सेंट्रल, बरेली, लखनऊ, गाजीपुर, फैजाबाद जाने वाले यात्रियों को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। मालूम हो कि इन ट्रेनों में नौकरीपेशा, विद्यार्थी, शिक्षक सहित अन्य व्यवसायिकों का प्रतिदिन आवागमन था। प्रयाग स्टेशन पर सुबह से ही विभिन्न जगहों पर जाने वाले यात्रियों की भीड़ बढ़ती गई। जिन्होंने भी ट्रेन की स्थिति जाननी चाही। उन्हें केवल ट्रेन रद्द की ही जानकारी मिली।

ऐसे में यात्रियों का गुस्सा शाम को फूट पड़ा। यात्रियों ने प्लेटफार्म और इंक्वायरी पर ही हंगामा करना शुरू कर दिया। इस दौरान लोग अपनी अपनी परेशानी बताते हुए रेल प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। साथ ही प्रतिदिन आवागमन करने वाले यात्रियों के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करने की मांग की। इस दौरान यात्रियों के बढ़ते आक्रोश को देख कांउटर पर बैठे रेल कर्मचारियों के पसीने छूटने लगे। उन्होंने तत्काल मामले की जानकारी आरपीएफ और जीआरपी को दी।

मौके पर पहुंची जीआरपी और आरपीएफ ने लोगों को समझाना शुरू कर दिया। इस दौरान जब यात्री नहीं माने तब मौके पर मौजूद रेलवे अधिकारियों ने तत्काल यात्रियों की समस्या से लखनऊ मंडल के अफसरों को अवगत कराया। डीआरएम लखनऊ मंडल सतीश कुमार के अनुसार यात्रियों की समस्या को देखते हुए उन्होंने मुख्यालय को पत्र लिखकर ट्रेनों को फिर से चलाने का प्रस्ताव भेजा है। अगर ट्रेनें फिर से नहीं चलाई जाती हैं तो दूसरी मेल एक्सप्रेस ट्रेनों का ठहराव छोटे स्टेशनों पर देने का भी प्रस्ताव दिया है। रेल मंत्रालय से निर्देश मिलते ही यात्रियों के ट्रेनें प्रारंभ कर दी जाएंगी।

Ad Block is Banned