फर्जी बाबा बताने और लिस्ट में नाम डालने पर कुशमुनी ने अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेन्द्र गिरी को भेजा नोटिस

मुनी की नरेन्द्र गिरी को चेतावनी सनातन में संत का सर्टिफिकेट देने का अधिकार किसी को नहीं, धर्म की माफियागिरी बंद करें।

इलाहाबाद. फर्जी बाबाओं की लिस्ट जारी कर खबरों में आए अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी को मुश्किल हो सकती है। उनकी लिस्ट में शामिल इलाहाबाद के कुशमुनी ने उन्हें इसके लिये नोटिस दे दिया है। उन्होंने नोटिस के जरिये से पूछा है कि उन्हें किस आधार पर फर्जी घोषित किया गया। साथ ही फर्जी घोषित करने का अधिकार नरेन्द्र गिरी को किसने दिया। वहीं कुशमुनि की ओर से नोटिस भेजते ही संत समाज में हड़कंप मच गया है।

 

Kushmuni

 

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद सहित देश के विभिन्न अखाड़े के संतो नें सर्वसम्मति से रविवार को एक फर्जी बाबाओं की लिस्ट जारी की थी। लिस्ट में कुशमुनि का नाम भी डाला गया है। कुशमुनि ने फर्जी इस लिस्ट में नाम आते ही रविवार को हमला बोला था। वहीं आज उन्होंने अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरी को नोटिस भेजा है। उन्होंने पत्रिका संवाददाता से बातचीत के दौरान नरेंद्र गिरी पर अपनी नाराजगी निकाली।

 

Fake Baba List

 

कहा कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने सन्यास लिया है तो वो सन्यास के साथ इमानदार रखें। अपने साथ और समाज के साथ धोखाधड़ी बंद करें। धर्म की माफियागिरी बंद करें। वह फतवा देने वाली हैसियत में आने की कोशिश न करें। सनातन धर्म में फतवे की परंपरा नहीं। ना ही आज तक कोई संस्था हुई जो किसी को संत का सर्टिफिकेट दे। नरेंद्रगिरी फतवागिरी शुरू कर धन उगाही कर रहे हैं। अगर निर्णय लेना ही है तो अपने अखाड़ा परिषद के लिए लें। नरेंद्र गिरी धर्म की माफियागिरी कर रहे हैं। जिस पर रोक लगनी चाहिए।

 

Kushmuni Attack on Narendra Giri

 

अखाड़ा परिषद ने राधे मां सहित 14 फर्जी बाबाओं का जारी किया था लिस्ट
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने रविवार को संतों की बैठक करके 14 फर्जी बाबाओं की लिस्ट जारी किया था। जिसमें सबसे पहला नाम आशा राम बापू उर्फ आशुमल शिरमलानी का था। इसके बाद सुखबिन्दर कौर उर्फ राधे मां, सच्चिदानन्द गिरि उर्फ सचिन दत्ता, गुरूमीत सिंह सच्चा डेरा सिरसा, ओमबाबा उर्फ विवेकानंद झा, निर्मल बाबा उर्फ निर्मलजीत सिंह, इच्छाधारी भीमानन्द उर्फ शिवमूर्ति द्विवेदी, स्वामी असीमानन्द, ओम नमः शिवाय बाबा, नारायण सांई, रामपाल, कुश मुनि, बृहस्पतिगिरी और मलखान गिरी का नाम फर्जी बाबाओं की लिस्ट में शामिल किया गया।

by  ARUN RANJAN

 

सुनिये कुशमुनी ने क्या लगाए आरोप...

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned