इविवि की पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष ऋचा सिंह मुम्बई में गिरफ्तार

आॅल इंडिया यूथ समिट कार्यक्रम होना था शामिल

By: arun ranjan

Updated: 04 Jan 2018, 03:49 PM IST

इलाहाबाद. इलाहाबाद विश्वविद्यालय की पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष और सपा नेता ऋचा सिंह को आज मुम्बई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। ऋचा सिंह मुंबई मंे आयोजित आॅल इंडिया यूथ समिट कार्यक्रम में शामिल होने गईं थी। मुम्बई पुलिस ने गिरफ्तार कर जुहू पुलिस थाने में रखा है। ऋचा कि गिरफ्तारी के बाद इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्र समर्थकों में जबरदस्त आक्रोश है।

मुम्बई में आज आॅल इंडिया यूथ समिट का कार्यक्रम आयोजित होना था। कार्यक्रम में इलाहाबाद विश्वविद्यालय की पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष ऋचा सिंह को शामिल होना था। इसमें देश के कोने कोने से युवा वर्ग शामिल होने पहुंचा था। ऋचा सिंह का यहां संबोधन कार्यक्रम भी था। प्राप्त जानकारी के अनुसार मुंबई पुलिस को इस कार्यक्रम से माहौल बिगड़ने की आशंका थी। ऐसे में स्थानीय पुलिस ने माहौल बिगड़ने के डर से सुबह ही कार्यक्रम स्थल को पुलिस छावनी मंे तब्दील कर दिया।

इसके बाद युवाओं ने इस सभा को सड़क पर करने का मन बनाया। वहीं पुलिस ने स्थिति बिगड़ने के डर से ऋचा को कार्यक्रम में शामिल होने से पहले ही गिरफ्तार कर लिया। ऋचा सिंह को जुहू थाने में रखा गया है। वहीं ऋचा की गिरफ्तारी के साथ ही कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे युवाओं का गुस्सा फूट पड़ा है। ऋचा सिंह की गिरफ्तारी की खबर इलाहाबाद पहुंचते ही इविवि के छात्रों में भी आक्रोश व्याप्त है। यहां भी छात्र आंदोलन करने की तैयारी कर रहे हैं।

ऋचा ने योगी आदित्य नाथ को इविवि मंें नहीं करने दिया था प्रवेश

ऋचा सिंह 2014-15 मंें केंद्रीय इलाहाबाद विश्वविद्यालय की पहली महिला छात्रसंघ अध्यक्ष चुन इतिहास रचा। उस दौरान ऋचा सिंह ने योगी आदित्य नाथ को इलाहाबाद विश्वविद्यालय में आने से रोक कर पूरे देश में सुर्खियां बटोरी थी। इसी साहस को देखते हुए विधानसभा चुनाव के दौरान तत्कालिन सीएम अखिलेश यादव ने ऋचा सिंह को पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास़्त्री के नाती बीजेपी प्रत्याशी सिद्धार्थ नाथ सिंह के खिलाफ शहर पश्चिमी से मैदान मंे उतारा। ऋचा को मैदान में उतारने का मुख्य उद्देश्य बसपा की पूजा पाल को हराना था। इस चुनाव में बीजेपी की जीत हुई। जबकि सपा की ऋचा सिंह ने बसपा की पूजा को तीसरे नंबर पर धकेल दिया था।

Show More
arun ranjan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned