एक ही परिवार के चार लोगों का गला काटकर नृशंस हत्या,एक माह की बच्ची जिन्दा बची

एक ही परिवार के चार लोगों का गला काटकर नृशंस हत्या,एक माह की बच्ची जिन्दा बची

Prasoon Pandey | Publish: Sep, 07 2018 10:17:21 AM (IST) Allahabad, Uttar Pradesh, India

आस पास के लोगों को नही लगी भनक,जघन्य हत्याकांड को दिया गया अंजाम

इलाहाबाद: जिले के सोरांव थाना क्षेत्र के बिगहिया गांव में दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। बीती रात अपराधियों ने एक ही परिवार के चार लोगों की धारदार हथियार से काटकर हत्या कर दी है। नृशंस हत्याकांड से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। हत्याकांड में पांच साल के बच्चे सहित चार लोगों की हत्या को अंजाम दिया गया है। जबकि नवजात बच्ची जिन्दा बच गई है।

जिले के सोरांव थाना अंतर्गत बिगहिया गांव में एक ही परिवार के चार लोगों की निर्मम हत्या कर दी गई है। जिसमें बुजुर्ग महिला सहित उनकी बेटी दामाद और नाती की हत्या हुई है। जबकि अपराधियों ने एक माह की बच्ची को जिंदा छोड़ा है। हत्याकांड ने सबको हिला कर रख दिया है। घटना की सूचना पर मौके पर जिले के आला अधिकारी पहुंचे हैं और मामले की जांच की जा रही है।

बिगहिया गाँव में कमलेश देवी अपने दामाद प्रताप बड़ी बेटी किरण और नाती विराट के साथ रहती थी।कमलेश देवी के पति विमल चंद की तीन साल पहले मौत हो चुकी है। इनको एक बेटा था जो लगभग 15 साल पहले गायब हो गया था । जिसके चलते पिता की मौत के बाद उनकी बड़ी बेटी किरण अपने पति और परिवार के साथ यही माँ के पास रहती थी।बता दें कि किरण को एक महीने पहले एक बेटी पैदा हुई है। जो जिन्दा बच गई है।

बता दें की घर के बगल में ही बिमल चन्द्र के भाई प्रकाश चन्द्र का मकान है। जानकारी के अनुसार सुबह घर से नवजात बच्ची के रोने की आवाज़ आ रही थी। जिस पर प्रकाश चन्द्र ने कई बार घर वालो को आवाज़ दी। घर में रहने वाला कोई भी व्यक्ति जब जबाब नही दिया और बच्ची रोती रही,तब उन्होंने अपने छोटे बेटे को भेजा। उसने देखा तो सब खून में लथफथ पड़े थे। शोर मचाने पर आस पास के लोग आये देख सब हैरान रह गये।

हत्याकाण्ड मामले में पुलिस जाँच में जुटी है।पुलिस के आलाधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नही है।आस पास के लोगो के अनुसार इनका किसी से कोई विवाद नही था।दामाद प्रताप का घर मेजा के अंवता गाँव में है।यहाँ कभी किसी से उनका भी विवाद नही हुआ।आस पास के लोगो से हमेशा अच्छे सम्बन्ध रहे हत्याकाण्ड की घटना से सब हैरान है।

Ad Block is Banned