डिप्टी सीएम के शहर बेटियों का दर्द- कहा- शराबियों की निगाहें हमें घूरती हैं कब बचाओगे सरकार

सड़क पर उतरकर छात्राओं ने कहा दावे बेमानी सबित हो रहे हैं, हमें चाहिए शिक्षा और सुरक्षा

 

By: Ashish Shukla

Published: 08 May 2018, 08:20 AM IST

इलाहाबाद. बेटी बचाओ बेटी बढ़ाओ का नारा देने वाली भाजपा सरकार के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के जिले में अपनी सुरक्षा और शिक्षा के लिए बेटियों को सड़क पर उतरना पड़ा है। सरकार के दावे बेमानी साबित हुए । दावे सिर्फ दावे ही रह गए। जिले के यमुना पार इलाके की छात्राओं को अपने शिक्षा और सुरक्षा के लिए प्रदर्शन करना पड़ा। नैनी के राधारमण महिला इंटर कॉलेज की छात्राओं ने अपनी मांगों को लेकर जमकर प्रदर्शन किया। सेठ मेवालाल बगिया के पास भारी मात्रा में छात्राओं ने शराब की दुकानों को बंद करने और राधारमण कॉलेज में विज्ञान विषय को मान्यता दिलाने के लिए जोरदार प्रदर्शन किया।

छात्राओं ने बताया कि हर दिन स्कूल आते जाते समय शराबियों की आंखें हमें घूरती रहती है। हम जब भी आते जाते हैं, हमें तरह.तरह का कमेंट सुनना पड़ता है।जब सरकार बेटियों की सुरक्षा और शिक्षा को लेकर इतना चिंतित है। तो इस स्कूल के इतने पास शराब की दुकान को क्यों लाइसेंस दिया गया। जबकि स्थानीय पुलिस प्रशासन को इसकी जानकारी पहले भी दी जा चुकी है।वही छात्राओं की अभी मांग थी कि उनके विद्यालय राधा रमण इंटर कॉलेज में विज्ञान विषय को मान्यता नहीं दी जा रही है। जिसके चलते छात्राओं को विज्ञान में प्रवेश लेने के लिए कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। जबकि विद्यालय प्रशासन ने कई बार शासन और प्रशासन से इस बात की गुहार की और कार्यवाही को आगे बढ़ाया क्योंकि विद्यालय को विज्ञान विषय की भी मान्यता दी जाए।
यह है मांगे

कालेज के आस पास से सरकार के द्वारा आवंटित की गई वैध शराब व अवैध शराब की दुकानों को बन्द किया जाए। पुरे देश भर में हो रही घटनाओं के बाद भी सरकार और प्रशासन इस बात से अनजान बना बैठा है ।

छात्राओ के लिए नैनी में एक ही कालेज है और यहाँ आज तक शिक्षा विभाग के द्वारा विज्ञान वर्ग की मान्यता न होने के चलते छात्राए विज्ञान वर्ग की शिक्षा से वंचित हो रही है।और विज्ञान वर्ग की मान्यता इसी सत्र 2018 में ही तत्काल प्रभाव से दिया जाय।

छात्राओं के लिए इस कॉलेज के अतिरिक्त अन्य कोई भी कालेज नही है । फिर भी इस कॉलेज को विज्ञान वर्ग की मान्यता से अभी दूर रख्खा गया है । जिससे छात्राओ के सामने विज्ञान वर्ग की शिक्षा को प्राप्त करने में तमाम तरह की कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है । आज इन्ही अव्यवस्थाओ को आज यह कालेज की छात्राएं अपनी आवाज को उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री सहित शिक्षा मन्त्री सहित माननीय जिलाधिकारीए जिला विद्यालय निरीक्षकएतक अपनी मांगों को पंहुचाना चाहती है।

Ashish Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned