चयन बोर्ड को सहायक अध्यापक सिलाई का परिणाम घोषित करने का निर्देश

.

प्रयागराज. हाईकोर्ट ने माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड को सहायक अध्यापक सिलाई का परिणाम जल्द घोषित करने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा है कि माध्यमिक शिक्षा परिषद की 1921 की नियमावली के पृष्ठ क और ख के बीच अथवा शब्द न होने के कारण भ्रम की स्थिति पैदा हुई है। इन दोनों प्रावधानों के बीच अथवा लगा देने से अहर्ता की स्तिथि स्पस्ट हो जायेगी। जीतेंद्र चौहान की याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश न्यायमूर्ति एसपी केसरवानी दिया है ।

 

याची का कहना था कि उसने सहायक अध्यापक सिलाई के लिए आवेदन किया था । विज्ञापन में कहा गया कि 1921 की नियमावली के परिशिष्ट में दी गई योग्यताएं लागू होंगी। परिशिष्ट क में इंटरमीडिएट सिलाई विषय से और ख में हाईस्कूल तथा सिलाई में मान्यता प्राप्त संस्थान से डिप्लोमा की अर्हता का निर्धारण किया गया था। याची दोनों अर्हता रखता था। मगर लिखित परीक्षा और साक्षात्कार के बाद बोर्ड ने पूरा परिणाम रोक दिया कि कोई भी योग्य अभ्यर्थी नहीं मिला ।कोर्ट ने कहा कि दोनों अवस्थाओं के बीच अथवा शब्द होने से अर्हता रखने वाले अभ्यर्थियों का चयन किया जा सकेगा ।कोर्ट ने योग्य अभ्यर्थियों को चयन परिणाम में शामिल करने का आदेश दिया।

By Court Correspondence

Show More
रफतउद्दीन फरीद Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned