‘नीतीश की हुई घर वापसी, 2019 में मिलकर करेंगे कांग्रेस व आरजेडी का सूपड़ा साफ’

‘नीतीश की हुई घर वापसी, 2019 में मिलकर करेंगे कांग्रेस व आरजेडी का सूपड़ा साफ’
Health Minister Siddharth Nath Singh

स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा, डिप्टी सीएम मामले में जल्द लिया जाएगा निर्णय

इलाहाबाद. स्वास्थ्य मंत्री और पार्टी प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने शुक्रवार को बिहार में हुए गठबंधन को नीतीश कुमार की घर वापसी बताया। साथ ही 2019 लोकसभा के चुनाव में कांग्रेस और आरजेडी का सूपड़ा साफ करने की बात कही। वहीं यूपी में डिप्टी सीएम के इस्तीफे के संबंध इस मामले में पार्टी जल्द ही निर्णय लेगी।




इलाहाबाद आगमन पर मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि बिहार के विकास के लिए ये गठबंधन बहुत जरुरी था। जिस तरह से महाराष्ट्र में बीजेपी की आवश्यकता है विकास के लिए ठीक उसी तरह से बिहार के विकास के लिए भी बीजेपी की आवश्यकता है। बिहार का विकास पिछले कई सालों से नहीं हुआ है। इसलिए वहां आवश्यकता है कि जेडीयू और बीजेपी मिल कर विकास करें। उन्होंने विश्वास जताया कि बिहार में नीतीश कुमार सरकार बनाने के लिए बहुत आसानी से अपना बहुमत साबित कर लेंगे। अब देखना ये है कि बहुमत कितना ऊपर जाएगा। उन्होंने बीजेपी और जेडीयू के गठबंधन के संदर्भ में कहा कि यह पुराना गठबंधन है। नीतीश की घर वापसी हुई है। 





लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर गठबंधन के सबन्ध में कहा ही लोस चुनाव के दौरान बीजेपी और जेडीयू मिलकर बिहार की सभी सीटों पर कब्जा जमायेगी। 2019 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस और आरजेडी का सुफड़ा साफ होने वाला है क्योंकि ये विकास का गठबंधन है। जिस प्रकार से महागठबंधन बना था उसमें अफसरवादी लोग ज्यादा थे। विकास उनका मकसद ही नहीं था। इस दौरान उन्होंने यूपी में डिप्टी सीएम के इस्तीफे और केंद्र में जगह दिए जाने के सवाल पर कहा कि अभी तक इस पर कोई निर्णय नहीं लिया गया है। ये निर्णय बीजेपी के अंदर सवैधानिक पद्धत्ति के आधार पर लिया जाएगा। जिसका निर्णय जल्द लिया जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned