magh mela 2018 मकर संक्रान्ति स्नान से पहले माघ मेला पहुचे स्वास्थ्य मंत्री, किया निरीक्षण

magh mela 2018 मकर संक्रान्ति स्नान से पहले माघ मेला पहुचे स्वास्थ्य मंत्री, किया निरीक्षण

Prasoon Kumar Pandey | Updated: 13 Jan 2018, 11:12:25 PM (IST) Allahabad, Uttar Pradesh, India

आगामी कुम्भ को दिव्य और भव्य बनाएगी सरकार : सिद्धार्थ नाथ सिंह

इलाहाबाद,माघ मेला में मकर संक्रांति के स्नान से पहले सूबे के चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह मेले की व्यवस्थाओं का निरीक्षण करने पहुचें। कैबिनेट मंत्री ने मेले में की गई तैयारियों को नजदीक से देखा और अधिकारियों से कई सवाल भी किये। उन्होंने कहा की माघ मेला कुम्भ का रिहर्सल है। और इसकी तैयारी भी वैसी ही किये जाने की जरूरत थी जो बहुत हद्द तक पूरी हुई है। उन्होंने कहा की प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की आने वाले कुम्भ मेले को बहुत यादगार दिव्य और भव्य बनाने की योजना है।इस दौरान उन्होंने मिडिया से बात करते हुए कहा की सीएम योगी आदित्यनाथ का पहले दिन से ही यह लक्ष्य था, की माघ मेला कुम्भ के ट्रेलर की तरह हो। सरकार गंगा स्वच्छता पर गम्भीर है। और मै उसी को देखने मै यहां आया भी हूं।

मंडलायुक्त आशीष गोयल ने स्वास्थ्य मंत्री को कूड़ा आधुनिक तरह से एकत्रित करने और उसे कम्पोस की प्रक्रिया को दिखाया ।स्वस्थ मंत्री ने बनाये गये टायलेट के बारे भी जानकारी ली पहले जो टायलेट बनता था। उससे मेले में बदबू और गन्दगी हो जाती थी। इसीलिए पहले सरकार ने, इस बार आधुनिक तरह के टायलेट बनाये गये हैं। कहा कि कुछ टायलेट ट्रायल के रूप में लगाए गए है, लेकिन कुम्भ में ये पूरी तरह से लगाए जायेंगे।इनकी संख्या कुभ में बढायी जायेगी।


मिडिया से मुखातिब मंत्री ने बताया की पेयजल कि माघ मेले में श्रद्धालुओं को स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति कराने के लिए माघ मेले में जगह जगह पर मिनरल वाटर का एटीएम काउंटर लगाया गया है। जहां सिर्फ पांच रुपये में पानी की एक बोतल भर सकते हैं। इस तरह की सुविधाएं पुरे माघ मेले में सौ जगह पर लगाई गयी है।जो आने वाले समय दोगुनी की जायेगी। साथ ही उन्होंने कहा की सुविधा हर जगह डस्टविन लगवाई गयी है। और लोगो को बताया जा रहा है कि कूड़ा डस्टबिन में ही फेंके। यह सब देखकर स्वास्थ मंत्री ने अधिकारियों की पीठ थपथायी। कहा की सभी सुविधाएं कुम्भ मेले के लिए रिहर्सल होगा जिससे आने वाले श्रद्धालु भी इन व्यवस्थाओं से परचित होंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned