अतीक अहमद के बाद अब भाई अशरफ की बढ़ी मुश्किलें, निरस्त हो सकती है जमानत 

अतीक अहमद के बाद अब भाई अशरफ की बढ़ी मुश्किलें, निरस्त हो सकती है जमानत 
Atiq Ahmad

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने जारी की नोटिस

इलाहाबाद. पूर्व विधायक राजू पाल हत्याकांड में पूर्व सांसद अतीक अहमद की जमानत निरस्त होने के बाद अब उनके छोटे भाई पूर्व विधायक अशरफ की जमानत भी निरस्त कराने की तैयारी है। राजू पाल की विधवा और पूर्व बसपा विधायक पूजा पाल ने अशरफ की जमानत निरस्त कराने के लिए हाईकोर्ट में अर्जी दी है। अर्जी पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति विपिन सिन्हा ने अशरफ को नोटिस जारी कर अपना पक्ष रखने के लिए कहा है। मामले की सुनवाई चार जुलाई को होगी। 





अर्जी में कहा गया है कि राजूपाल की हत्या में अशरफ भी शामिल कहा है और अतीक अहमद के बराबर का ही अभियुक्त है। हत्या वाले दिन वह घटनास्थल पर भी मौजूद था। अशरफ को भी हाईकोर्ट से 2006 में जमानत मिल गयी थी। इसके बाद साक्ष्यांे को नष्ट करने और गवाहों को धमकाने में और अपहरण करने में वह भी शामिल रहा। इसके बाद भी वह अतीक के साथ ही लगातार कई अपराधों में शामिल रहा है। अशरफ अपने भाई अतीक के साथ ज्यादातर मुकदमों में सह अभियुक्त है। उसके जमानत पर बाहर रहने पर याची को उसी प्रकार खतरा बना हुआ है। जैसे अतीक के बाहर रहने पर था। कोर्ट इस मामले में चार जुलाई को सुनवाई करेगी। 






उल्लेखनीय है कि बुधवार को हाईकोर्ट ने राजूपाल हत्याकांड में अतीक अहमद की जमानत निरस्त कर दी है। कोर्ट ने माना कि अतीक अहमद ने जमानत मिलने के बाद इसकी शर्तों का उल्लंघन किया। याची की ओर से अधिवक्ता मिथिलेश तिवारी ने व सरकार की ओर से अपर महाधिवक्ता विनोद कांत और विमलेन्दु त्रिपाठी और अशरफ की ओर से अधिवक्ता सतीश त्रिवेदी उपस्थित थे।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned