लोकसभा चुनाव से पहले हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का भंडाभोड़ , कई हिरासत में

दिल्ली और मुंबई से बुलाते थे लड़कियां

प्रयागराज | पुलिस ने शहर में ऑन लाइन संचालित हो रहे एक बड़े सेक्स रैकेट का पर्दाफास किया है। पुलिस ने सेक्स रैकेट के चंगुल में फंसी एक अपहृत लड़की को भी बरामद किया है। जिसे सेक्स रैकेट संचालित करने वाले आरोपी मुम्बई ले जाने की फिराक में थे। अतरसुइया थाना पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर छापेमारी कर सेक्स रैकेट चलाने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए लोगों में सेक्स रैकेट का सरगना अंकित वर्मा और उसका साथी नितिश चौधरी उर्फ राहुल शामिल है। सेक्स रैकेट को संचालित करने वाली मुम्बई की एक महिला खुशी सिंह को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस की पूछताछ में पता चला है कि शहर के अलग.अलग होटलों और इलाकों में फ्लैट किराये पर लेकर आरोपी सेक्स रैकेट संचालित कर रहे थे। बड़े ही शातिराना अंदाज में शहर में लगातार लोकेशन बदल रहे थे ताकि किसी को भी उन पर किसी प्रकार का कोई शक न हो। पुलिस ने आरोपियों के पास से चार मोबाइल फोन, एक लैपटाप और एक बाइक भी बरामद की है। फिलहाल पुलिस सेक्स रैकेट संचालित करने वाले आरोपियों से पूछताछ कर इनके पूरे नेटवर्क को खंगालने में जुटी हुई है। पुलिस को आशंका है कि इनके जाल में कई दूसरी भोली.भाली लड़कियां भी जिस्म फरोशी के दलदल में फंसी हो सकती हैं।

पुलिस के मुताबिक शहर के कटरा का रहने वाला अंकित शर्मा और आनंद उस आनंद सोनी पिछले कुछ सालों से मुंबई की फिल्म इंडस्ट्री में स्पॉट बाय का काम करता है। इस दौरान उसकी दोस्ती मुंबई के ठाणे थाना क्षेत्र की मीरा रोड स्थित रहने वाली एक लड़की से उसकी दोस्ती हो गई। उसके कुछ दिनों बाद लोगों ने पैसा कमाने के लिए व्यापार का रास्ता चुन लिया । शहर में आकर पति और पत्नी की तरह किराए के कमरे रहने लगे। और नौकरी दिलाने के बहाने लड़कियों को फ़साते और उनसे देह व्यापार करते थे। पुलिस के मुताबिक आनंद के फेसबुक पर अतरसुइया इलाके की एक लड़की जुडी थी । जिसने फेसबुक पर नौकरी दिलाने के नाम पर मिलने के लिए बुलाया और शहर के बैरहना स्थित एक होटल में मिले जहां पहले से 3 लड़कियां मौजूद थी। पुलिस के मुताबिक अंकित ने उस पर व्यापार का दबाव बनाया लेकिन विरोध करने पर अंकित और उनके साथियों ने सिगरेटस उसको जलाया मारा और बीयर पिलाने की कोशिश की । इसके बाद लड़की किसी तरह से अपने परिजनों के पास पहुंची। उसकी शिकायत पुलिस में की गई और कई दिनों कि घेरे बंदी के बाद अंकित और उसके साथी को गिरफ्तार करने में पुलिस को सफलता मिली पुलिस के मुताबिक दिल्ली और मुंबई से भी लड़कियां बुलाते थे। ग्राहकों की कीमत के अनुसार उन्हें भेजते

प्रसून पांडे
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned