संगम नगरी पंहुचा जम्मू कश्मीर के हिन्दू श्रद्धालुओं का जत्था ,कहा भारत सरकार ...

गंगा यमुना की अविरल धारा देखने को रहे उत्साहित

प्रयागराज | जम्मू कश्मीर में धारा 370 और 35 ए हटाए जाने के बाद कश्मीर के नागरिक भारतवर्ष का भ्रमण करने निकल रहे हैं। ऐसे ही जम्मू और कश्मीर के रहने वालों का एक जत्था तीर्थराज प्रयाग में पहुंचा है। कुंभ की नगरी प्रयागराज में पहुंचकर जम्मू कश्मीर के नागरिक बेहद उत्साहित और खुश दिखे। कुंभ के आयोजन की भव्यता देखने भले ही न पंहुच पाएं हो लेकिन अब 10 जनवरी से आयोजित होने वाले माघ मेले में जम्मू.कश्मीर के यात्री पंहुच रहे हैं।

जम्मू कश्मीर के श्रद्धालु केंद्र सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 और 35 ए हटाए जाने के फैसले को जहां सही बता रहे हैं। वही पहले से ज्यादा बेहतर महसूस कर रहे हैं। श्रद्धालुओं ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर में शांति आने से राज्य के बाहर उन्हें भ्रमण करने का मौका मिल रहा है। साथ ही जम्मू.कश्मीर में पड़ रही कड़ाके की सर्दी के मुकाबले संगम नगरी का मौसम उन्हें सुहाना लग रहा है। श्रद्धालुओं ने बताया कि धारा 370 हटाए जाने पर जम्मू कश्मीर में विकास के काम तेज हुए हैं।

इसे भी पढ़े- एक साथ पांच शवों का अंतिम संस्कार ,मासूम बच्चो की चिता देख कलेजा कांप गया
कश्मीर से आए श्रद्धालुओं में संगम तट पर बेहद उत्साह देखने को मिला। श्रद्धालुओं का कहना है कि वह अब भारत के किसी भी हिस्से में जा सकते हैं। भारतीय हैं उन्हें गर्व है ।गौरतलब है कि, संगम के तट पर लगने वाले माघ मेले और कुंभ मेले में देश और दुनिया भर के सनातन धर्मावलंबी आते हैं ।ऐसा नहीं है कि जम्मू और कश्मीर के सनातन धर्म मानने वाले पहली बार आ रहे हैं लेकिन इस बार आए श्रद्धालुओं में महिलाएं बच्चों की संख्या अधिक है। उनमें पहले से बेहतर उत्साह देखने को मिल रहा है। कश्मीर से आए श्रद्धालु जहां एक ओर गंगा यमुना और अदृश्य सरस्वती के पावन मिलन को देखने के लिए उत्साहित थे ।वही सदियों से सृष्टि का साक्षी देव वृक्ष अक्षय वट का दर्शन करने को आतुर दिखे।

Show More
प्रसून पांडे
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned