संगमनगरी में धड़ल्ले से नशे का कारोबार, युवाओं में बढ़ रहा क्रेज

संगमनगरी में धड़ल्ले से नशे का कारोबार, युवाओं में बढ़ रहा क्रेज
Intoxicant

शहर में बीते पांच सालों में बार रेस्टोरेंट और हुक्का पार्लर की बढ़ी संख्या

इलाहाबाद. संगम नगरी जिसे दुनिया भर में बौद्धिकता धार्मिक परंपरा और राजनीतिक विरासत के लिए जाना जाता है देश ही नहीं बल्कि दुनिया भर के युवाओं के लिये शिक्षा का गढ़ कहा जाने वाला इलाहाबाद इन दिनों तेजी से बदल रहा है। यहां की जीवन शैली में बदलाव महसूस होने लगा है, इन दिनों बौद्धिकता की चौपाल की जगह पार्लर जैसी चीजों ने ले लिया है। यहां का युवा धुएं में अपनी जिंदगी उड़ा रहा है, कह सकते है कि नशे के आगोश में जा रहा है। शहर में बीते पांच सालों में बार रेस्टोरेंट और हुक्का पार्लर जैसी चीजें तेजी से विकसित हुई है। अब साहित्य चौपाल संगोष्ठी और युवाओं को एकत्रित करने वाली परंपरा खत्म सी हो रही और और उनकी जगह संगीत की तेज़ धून के बीच खो रही है।

200 रूपये जिन्दगी को धुएं में उड़ाने की कीमत 

मेट्रो सिटीज की तरह यहां के युवा अब अपनी शाम संगम के किनारे आजाद पार्क में नहीं बिताना चाहते।शहर में खुले तीन दर्जन से ज्यादा हुक्का पार्लरों ने युवाओं को तेजी से अपनी तरफ आकर्षित किया है। हुक्का पार्लर चलाने वाले इसे रेस्टोरेंट का नाम देकर अपनी जिम्मेदारी से बचना चाहते है। इस बात को साफ़ मना करते है की वह शहर में नशे का कारोबार कर रहे हैं हुक्का पार्लर चलाने वालों का यह तर्क है कि शहर में अगर सिगरेट शराब जैसी चीजें नहीं प्रतिबंधित है तो काम चलाना क्यों प्रतिबंधित है।हुक्का बार में सबसे युवाओं को आकर्षक इसलिए किया की जिस ग्लैमर की लाइफ वो को पसंद कर रहे है वो आसानी से कम दम में मिल रही है।200 रूपये पर हुक्का देर तक ग्रुपबाजी करने का अड्डा। तेज़ गाने की धुन में सब मस्त देर रात तक की पार्टी ।


यह भी पढ़ें:

अमेरिका से आया बुलावा, यूपी के इस छात्र की पढ़ाई का खर्च उठायेगी अमेरिकी सरकार



एक हुक्का पार्लर ने बड़ा दिया क्रेज 

शहर के नैनी इलाके में तकरीबन पांच साल पहले सबसे पहला हुक्का पार्लर खोला गया । जिसने खूब सुर्खियां बटोरी जिले भर के दूर-दूर के लड़के हुक्का पार्लर के नाम पर वहां जाते और मोटी रकम चुकाते इसके बाद धीरे-धीरे पार्लर ने बिजनेस का रूप लिया और पूरे शहर में फैल गया। एक हुक्का संचालक के मुताबिक शहर भर में 50 से ज्यादा पार्लर चल रहे हैं।इसे चलाने वाले ज्यादातर या तो बड़े अफसरों के बेटे हैं या बड़े राजनीतिक घराने से ताल्लुक रखते हैं।इसे चाल्ने वाले ज्यादातर युवा पीढ़ी के लोग है।और शौक में हुक्का का व्यापार शुरू किया।संचालक के मुताबिक पार्लर में हुक्के के फ्लेवर सामान्य होते हैं। जिसमें किसी तरह की नशा नहीं होता। कुछ फ्लेवर ऐसे हैं जो खास तौर पर जिनमें 0.1 निकोटिन की मात्रा पाई जाती है।

देर रात हुई धर पकड़ 

वही पुलिस का कहना है कि रेस्तरा में हुक्का बार नही चलने दिया जाएगा। लेकिन उसके बावजूद धडल्ले से चल रहे है। बीती रात पुलिस ने कई पार्लरो पर धावा बोला और 10 से ज्यादा पार्लर बंद कराया ।पुलिस के अनुसार की शिकायत मिल रही थी कि हुक्का पार्लर में लगातार नशीले पदार्थों की बिक्री की जा रही है हालांकि ऐसा कोई अभी पदार्थ नहीं मिला। लेकिन पार्लर में मिले हुक्का के फ्लेवर की जांच के लिये भेजे जा रहे है। शहर में हुक्का बार देर रात तक आबाद रहते है। बीते दिनों में लगातार हुक्काबार और वहा से निकलने वालो लोगो ने जमकर शहर में बवाल काटा जिसके बाद से पुलिस ने पार्लरो पर नजर लगा रख्खी है ।


मानक की अनदेखी 

हुक्का पार्लरो में ज्यादातर स्कूली छात्र आते है और इसमें लडकियों की भी संख्या कम नही कही जा सकती है।जबकि जो मानक मुंबई पुणे और दिल्ली जैसे शहरो में है की 18 साल से कम लोगो को प्रवेश नही दिया जाना चाहिये।हुक्का पार्लर अगर चले तो रेस्ट्रोरेन्ट और पार्लर अलग अलग सेटप के साथ हो । इस तरह के कई मानक तय किये है।लेकिन इनसे वेपरवाह सिर्फ पैसे कमाने के लिये इन सब की धज्जिया उडा रहे है हालाकि पुलिस की माने तो अब शहर में हुक्का बार नही चलने देगे।फ़ूड रेस्ट्रोरेन्ट जिसके पास लाइसेंस है,वही चला सकते है। धुएं में उडती और तेज़ धुन में थिरकती जिन्दगी में जीने वाले युवा को आकर्षित करने वाले पार्लर आने वाली पीढ़ी के लिये कितने घातक है इसका अंदाजा नही शहर के पास इलाके में चलने वाले पार्लर जैसे गुड नाइट स्पाइसी धुंआ इटोरोईं फॉयर एंड फ्लेम,फायर एट नाईट,ब्रूसमास्टर,तम्बूरा,ब्लिस,ब्लू डिस आफायर,लैगिंगन्स,साउंडनेस मैफिल, रस जैसे कई नाम है ।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned