संजय यादव बने इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश, सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने की सिफारिश

Justice Sanjay Yadav chief Justice of Allahabad Highcourt. इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad Highcourt) के वर्तमान कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश, न्यायमूर्ति संजय यादव (Sanjay Yadav) अब इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बन गए हैं।

By: Abhishek Gupta

Updated: 21 May 2021, 11:45 AM IST

प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad Highcourt) के वर्तमान कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश, न्यायमूर्ति संजय यादव (Sanjay Yadav) अब इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बन गए हैं। सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने गुरुवार को संजय यादव को इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्त करने की सिफारिश की। इससे पहले केंद्र सरकार ने संजय यादव को 14 अप्रैल, 2021 से हाईकोर्ट का कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया था। 08 जनवरी, 2021 को मध्यप्रदेश से इलाहाबाद उच्च न्यायालय में उनका ट्रांसफर किया गया था। पूर्व मुख्य न्यायाधीश गोविंद माथुर ने अपने न्याय कक्ष में आयोजित समारोह में उन्हें शपथ दिलाई थी।

ये भी पढ़ें- न्यायमूर्ति संजय यादव इलाहाबाद हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश, 14 अप्रैल को ग्रहण करेंगे कार्यभार

जस्टिस संजय यादव जबलपुर के निवासी हैं। सीनियर जज संजय यादव ने न्यायदान प्रक्रिया को नई ऊंचाइयां प्रदान की। जस्टिस यादव के फैसलों, आदेशों में जनहित के प्रति उनका रुझान साफ झलकता है। राजनीतिक दलों की ओर से किए जाने वाले जबरिया बन्द के खिलाफ आदेश में उनकी दृढ़ता परिलक्षित हुई तो गर्भवती महिलाओं को ट्रेन में लोवर बर्थ आवंटित करने का आदेश देकर उन्होंने जनता का दिल जीत लिया। जस्टिस यादव ने अपने विधि गयं अप्रत्यक्ष प्रणाली से महापौर चुनाव के खिलाफ याचिका खारिज कर अपने विधि ज्ञान की गहनता का परिचय दिया तो सनातन धर्म के पथ प्रदर्शक ग्रन्थ श्रीमद भगवत गीता की मीमांसा कर आध्यात्म की झलक भी जाहिर की। जस्टिस यादव का नाम इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस के लिए अनुशंसित किये जाने से जबलपुर के विधिक जगत में गर्व महसूस किया जा रहा है।

जीवन परिचय -

न्यायमूर्ति संजय यादव ने 25 अगस्त 1986 को वकील के रूप में अपना करियर शुरू किया था। जबलपुर में मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में प्रैक्टिस शुरू की। मध्य प्रदेश के उप-महाधिवक्ता के रूप में कार्य किया। न्यायमूर्ति संजय यादव को 2 मार्च, 2007 को मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत किया गया। 15 जनवरी, 2010 को स्थायी न्यायाधीश बनाया गया। उन्हें 06 अक्टूबर, 2019 से 02 नवंबर, 2019 तक और 30 सितंबर, 2020 से 02 जनवरी, 2021 तक मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया था। सिविल, संवैधानिक व राजस्व मामलों के अधिवक्ता के रूप में वह प्रसिद्ध हैं। वह मध्य प्रदेश के डिप्टी एडवोकेट जनरल भी रह चुके हैं।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned