UP crime :योगी सरकार में कानून व्यवस्था तार -तार कोर्ट रूम में जमकर मारपीट

UP crime :योगी सरकार में कानून व्यवस्था तार -तार कोर्ट रूम में जमकर मारपीट
SDM Court

Prasoon Kumar Pandey | Updated: 23 Jul 2019, 12:09:42 PM (IST) Allahabad, Uttar Pradesh, India

 

-तहसील में अधिवक्ताओं के दो गुटों में हुई भिड़ंत

-जमकर चले लाठी डंडेए आधा दर्ज़न हुए घायल

-घटना सीसीटीवी में हुई क़ैद।

 

प्रयागराज |यूपी की योगी सरकार में कानून व्यवस्था मजाक बन गई है।किसी को कानून का डर नही रहा जिले की मेजा त्तहसील में एसडीएम कोर्ट में जमकर मार पीट हुई और देर रात उसका सीसीटीवी फुटेज लिक हो गया । तहसील में हड़ताल और तालाबंदी को लेकर अधिवक्ताओं के दो गुट बंट गए। एक गुट हड़ताल खत्म करने पर आमादा था। तो दूसरा पक्ष हड़ताल जारी रखने के लिए झुकने को तैयार नहीं था। दोनों पक्षों में जमकर लाठी डंडे और कुर्सियां चलीं। जिसमें लगभग आधा दर्ज़न से अधिक अधिवक्ता घायल हो गए। इतना ही नहीं जानकारी के मुताबिक़ एसडीएम कोर्ट खोलने वाले पेशकार को भी वकीलों ने जमकर पीट दिया। इस मामले में अधिवक्ताओं के दोनों गुट की ओर से मिली तहरीर पर एफआईआर दर्ज कराई गई है।

जानकारी के मुताबिक़ मेजा तहसील के उरुवा गाँव के रहने वाले अधिवक्ता अनिल पाण्डेय की गाँव में एक जमीन है। जिस पर एस डी एम के आदेश पर जल निकासी की नाली खुदवा दी गई है। जिसकों हटवाने को लेकर अनिल पाण्डेय और उनके समर्थक करीब एक सप्ताह से हड़ताल पर थे। वह अपनी मांगों को लेकर कई दिनों से न्यायालय नहीं चलने दे रहे थे। चार दिन पहले अधिवक्ताओं का दूसरा पक्ष हड़ताल खत्म कराने और न्यायालय चलने देने की पैरवी में लगा हुआ था। सोमवार को भी अधिवक्ताओं के दोनों पक्षों में कहासुनी हुई बात इतनी बिगड़ गई की कोर्ट रूम में मारपीट हो गई।

मारपीट में ईंट.पत्थर के अलावा जमकर लाठी.डंडे भी चले। इसी दौरान एसडीएम न्यायालय का कक्ष खोलने के आरोप में पेशकार को भी पीट दिया गया। जिसके बाद तहसील परिसर में हंगामा मच गया। भगदड़ के दौरान तमाम लोगों ने एसडीएम कोर्ट में छिपकर जान बचाई। तहसील के बाहर दुकानें बंद कर दी गईं। पुलिस ने किसी तरह मौके पर पहुंच हालात को संभाला। एसपी क्राइम आशुतोष मिश्रा ने बताया की अधिवक्ताओं के दोनों गुटों से तहरीर लेकर रिपोर्ट लिखी ज़ा रही है। उन्होने बताया की पूरी घटना क़ा सीसीटीवी फुटेज भी आया है जिससे मारपीट और हंगामा करने वाले लोगों को चिन्हित कर कारवाई की जायेगी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned