जेल के खूनी खेल, माफिया राजेश पायलट का करवरिया बंधुओ पर गंभीर आरोप

Prasoon Pandey

Publish: Nov, 14 2017 02:21:53 (IST) | Updated: Nov, 14 2017 02:52:14 (IST)

Allahabad, Uttar Pradesh, India
जेल के खूनी खेल, माफिया राजेश पायलट का करवरिया बंधुओ पर गंभीर आरोप

माफिया राजेश पायलट के आरोपो के बाद राजनितिक गलियारों में सरगर्मी

इलाहाबाद नैनी सेंट्रल जेल में बंद कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी पर रिमोट बम से हमला करने वाला मास्टरमाइंड राजेश पायलट पर नैनी जेल के अंदर बीते रविवार को जानलेवा हमला हुआ था।राजेश पायलट सहित एक और बदमाश फहीम भी इस जानलेवा हमले से घायल हुआ है।राजेश पायलट पर हुए हमले के बाद जेल प्रशासन सहित राजनीतिक गलियारों में भी हलचल बढ़ गई है। क्योंकि नैनी जेल में बंद कुख्यात अपराधी जो वर्तमान कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी पर हमले का आरोपी है।साथ ही उस पर कई गंभीर मामले दर्ज है।सेंट्रल जेल की हाई सिक्योरिटी जेल में बंद होने के बाद भी पायलट पर हमला होने के बाद जेल प्रशासन की एक बार फिर पोल खुली।जेल में हो रहे खुनी खेल की जानकारी जेल से बाहर घंटो बाद मिल सकी और जेल प्राशासन पुरे मामले को दबाने में लगा रहा। जेल प्रशासन ने नैनी जेल में जो मामला दर्ज कराया है उसके अनुसार मेरठ का शातिर अपराधी उधम सिंह जिसने इस हमले को अंजाम दिया है।

2010 में कैबिनेट मैत्री नन्द गोपाल गुप्ता पर बम से जानलेवा हमला करने के आरोप में नैनी जेल में बंद माफिया राजेश पायलट ने राजनितिक गलियारों में हडकंप मचा दिया है।राजेश ने नैनी जेल में ही बंद करवरिया बंधुओ से जान का खतरा बता है। राजेश पायलट 2011 से नैनी जेल में बंद है। तो वही फहीम 2016 में लखनऊ जेल से यहाँ स्थान्तरित किया गया है।दो दिन पहले हुए हमले में जिसमे राजेश घायल हो गया है। राजेश एक मामले में पेशी पर जिला न्यायलय आया।राजेश पेशी के दौरान अपने परिजनों से मिला और हमले का जख्म दिखाया।और हमले का सीधा आरोप करवरिया बंधुओ पर लगा कर अपनी जान को खतरा बताया।भाजपा के पूर्व विधायक उदयभान करवरिया और उनके भाई बसपा के पूर्व सांसद रहे कपिल मुनि करवरिया सपा के पूर्व एमएलसी रहे सूरज भान करवरिया पर आरोप लगाते हुए कहा की उसे करवरिया बंधुओ से जान का खतरा है । बतादें की करवरिया बंधू बीस साल पहले हुए विधायक जवाहर पंडित की हत्याकाण्ड मामले में जेल में चार सालो से बंद है।

वही एक वरिष्ठ पत्रकार के अनुसार यह सवाल है की जेल के अंदर हुए इस हमले और बहार लगाये गये आरोपों के पीछे कही कोई बड़ी साजिश तो तैयार नही हो रही है। बता दें की राजेश पायलट पर ने बसपा सरकार के तत्कालीन कैबिनेट मंत्री रहे नन्द गोपाल गुप नंदी पर रिमोट बम से हमला कर हडकम्प मचा दिया था।और लम्बे समय तक फरार रहने के बाद पुलिस की गिरफ्त में आया था। और उस समय अपने तरीके का पहला मामला था जिले में जिसमे रिमोट बम का इस्तेमाल हुआ था।इस मामले की पड़ताल कर रही टीम को जब जानकारी मिली की राजेश नंदी हमले का मास्टर माइंड है।तो हडकंप मचा था।और वही इस बात का खुलासा हुआ था की अंडरवर्ड की दुनिया में अपना पाँव पसार रहा राजेश कितना शतिर है। साजिश पर सवाल इसलिए भी की यूपी सरकार ने करवरिया बंधुओ के केश की रिपोर्ट जिला प्रशासन से मांगी है। ऐसे समय में ही यह हमला क्यों हुआ है।और आरोप क्यों लागए जा रहे है। राजेश पायलट के इस बयान के बाद जिले की राजनितिक गलियारों में हडकम्प मच गया है। बता दे की पूर्व विधयाक उदय भान करवरिया की पत्नी नीलम करवरिया भाजपा से विधायक है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned