scriptMass murder continues in Prayagraj | प्रयागराज में सामूहिक हत्याकांड का सिलसिला जारी, पांच सालों में आठ बड़े सामूहिक हत्याकांड, आकड़ें चौकानें वाले | Patrika News

प्रयागराज में सामूहिक हत्याकांड का सिलसिला जारी, पांच सालों में आठ बड़े सामूहिक हत्याकांड, आकड़ें चौकानें वाले

सामूहिक हत्याकांड का सिलसिला 2017 से शुरू हुआ और हत्याकांड का राजफाश तक आज तक नहीं हुआ है। जिन हत्याकांड में खुलासा भी हुआ है उसमें भी पुलिस पर सवालिया निशान भी लगे। नवाबगंज थाना और फूलपुर थाना क्षेत्र की घटना को सात सदस्यीय टीम गठित तो कर दी गई है लेकिन अब तक कोई सुराग नहीं मिला है। 2017 से लेकर 2022 अबतक आठ बड़े हत्याकांड हुए हैं।

इलाहाबाद

Published: April 23, 2022 04:59:38 pm

प्रयागराज: यूपी के प्रयागराज जिला में सामूहिक हत्याकांड का सिलसिला जारी है। पिछले एक हफ्ते में दो बड़े सामूहिक हत्याकांड से दिल दहल उठा है। 16 अप्रैल को नवाबगंज थाना क्षेत्र में एक ही परिवार में पांच लोगों की हत्या की गुत्थी सुलझी नहीं कि ठीक सात दिन बाद थरवई थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक ही परिवार में पांच सदस्यों की हत्या कर दी गई। सामूहिक हत्याकांड का सिलसिला 2017 से शुरू हुआ और हत्याकांड का राजफाश तक आज तक नहीं हुआ है। जिन हत्याकांड में खुलासा भी हुआ है उसमें भी पुलिस पर सवालिया निशान भी लगे। नवाबगंज थाना और फूलपुर थाना क्षेत्र की घटना को सात सदस्यीय टीम गठित तो कर दी गई है लेकिन अब तक कोई सुराग नहीं मिला है। 2017 से लेकर 2022 अबतक आठ बड़े हत्याकांड हुए हैं।
प्रयागराज में सामूहिक हत्याकांड का सिलसिला जारी, पांच सालों में आठ बड़े सामूहिक हत्याकांड, आकड़ें चौकानें वाले
प्रयागराज में सामूहिक हत्याकांड का सिलसिला जारी, पांच सालों में आठ बड़े सामूहिक हत्याकांड, आकड़ें चौकानें वाले
केस-1, एक परिवार में चार सदस्यों की हत्या

साल 2017 में नवाबगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत शहावपुर गांव में पहली घटना घटी। एक ही परिवार में चार सदस्यों की हत्या कर दी गई थी। मृतक मक्खन गुप्ता, उनकी पत्नी मीरा देवी, बेटी वंदना व निशा की सामूहिक हत्या हुई थी। पुलिस ने कुछ लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था, लेकिन बाद में घटना का सही राजफाश होने पर पहले गिरफ्तार किए गए लोग निर्दोष निकले। अब तक केस ठंडे बस्ते में चला गया है।
केस-2, पति-पत्नी समेत बेटी को जिंदा जलाकर हत्या

मार्च 2017 में थरवई थाना क्षेत्र के अंतर्गत पडिला मंदिर पर शिवरात्रि मेले जे दौरान राजस्थान से दंपति समेत उसकी बेटी को जलाकर मार डाला गया था।मामले में अब जांच जारी है और घटना का खुलासा नहीं हो सका है।
केस-3, नवाबगंज क्षेत्र में तीन लोगों की हत्या

19 मार्च 2018 को हुए सामूहिक हत्याकांड से प्रयागराज दहल उठा था। नवाबगंज थाना क्षेत्र के शहावपुर उर्फ पसियापुर गांव में सुशीला, उसके दो बेटे सुनील व अनिल की हत्या कर दी गई थी। आरोप में एक रिश्तेदार को ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। मिले तहरीर के आधार पर पुलिस ने जांच किया और नामित अभियुक्तों को जेल भेज दिया।
केस-4 सोरांव क्षेत्र में एक ही परिवार के चार सदस्यों की हत्या

सात दिसंबर 2018 को सोरांव थाना क्षेत्र के बिगहियां गांव में सरकारी कर्मचारी कमलेश देवी, उसकी बेटी, दामाद प्रताप नरायण के साथ उसके नाती विराट को मौत के घाट उतार दिया गया था। मामले में पुलिस रिश्तेदारों को जेल भेजा है।
केस-5, एक ही परिवार के पांच सदस्यों की हत्या

पांच जनवरी 2020 को सोरांव थाना क्षेत्र के अंतर्गत यूसुफपुर गांव में दिल दहला देने वाली घटना घटी थी। एक परिवार के पांच सदस्यों की दर्दनाक हत्या हुई थी। हत्याकांड में विजय शंकर तिवारी, उसकी पत्नी सोनी, सोनू, कान्हा, कुंज की धारदार हथियार से मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्याकांड में बिहार गैंग के छह सदस्यों को गिरफ्तार किया था।
केस-6, होलागढ़ में भी एक ही परिवार के चार लोगों की नृशंस हत्‍या

2020 में भी सामूहिक हत्याकांड हुआ था। होलागढ़ थाना क्षेत्र के बरई हरख गांव के शुकुलपुर मजरा निवासी पांडेय परिवार के चार सदस्यों की बेरहमी से हत्या हुई थी। मृतक विमलेश पांडेय, उनके बेटे प्रिंस, बेटी श्रेया व शीबू की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड में पुलिस ने पुलिस ने छेमार गैंग के बदमाशों को गिरफ्तार कर मामले का राजफाश किया था।
केस-7, एक परिवार के चार सदस्यों की हत्या

पिछले साल 2021 में फाफामऊ कांड में आज तक किसी तरह का खुलासा नहीं हुआ है। पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार तो किया लेकिन अब तक खुलासा नहीं कर सकी। 28 नवंबर 2021 को फाफामऊ क्षेत्र के एक गांव में दंपती और उसके दो बच्चों को कुल्हाड़ी से काट डाला गया था। मामले जांच हुआ तो 17 वर्ष की बेटी के सतज दुष्कर्म का मामला सामने आया था। मामले जांच किया गया तो 11 लोगों को नामजद किया गया था। पुलिस ने नामजद के अलावा अन्य लोगों को जेल भेज दिया था। पुलिस इस हत्याकांड को लेकर किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी है।
केस-8, एक परिवार में पांच सदस्यों की हत्या

23 अप्रैल 2022 को गंगापार एरिया में एक हफ्ते में यह दूसरी घटना है। थरवई थाना क्षेत्र के अंतर्गत यादव परिवार में पांच लोगों की बेहरमी से हत्या कर दी गई। परिवार के मुखिया, पत्नी समेत बहु, बेटी और 2 वर्ष की पोती की हत्या हुई। पांच हत्याओं को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश है। पुलिस ने जांच के लिए सात सदस्यीय टीम गठित कर दी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

Gyanvapi Survey: सर्वे के दौरान कुएं में मिला शिवलिंग, हिन्दू पक्ष के वकील का दावाअसम में बाढ़ से 7 जिलों के लगभग 57 हजार लोग प्रभावित, बचाव कार्य में जुटी इंडियन एयरफोर्सराजस्थान में तपिश और लू बनी ‘संजीवनी’, हुआ ये बड़ा फायदाCNG Price Hike: एक साल में CNG में 69.60% की बढ़ोतरी, जानें आपके शहर की लेटेस्ट कीमतअब हवाई सफर होगा महंगा! Jet Fule की कीमतें बढ़ने से पड़ेगा असरसोनिया गांधी का ये अंदाज पंसद आया, वे मुस्कुराई तो सभी कांग्रेसी भी मुस्कुराए, देखे पूरा वीडियोमहिला बीड़ी मजदूरों ने कहा, हज़ार बीड़ी बनाने पर मिलते हैं सिर्फ  80 रुपये 80 वर्षीय मशहूर चित्रकार ने नाबालिग से 7 साल तक किया 'डिजिटल रेप', जानें क्या होता है Digital Rape
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.