इलाहाबाद शहर के हर हिस्से से गुजरेगी मेट्रो, 40 किमी के दायरे में बनेंगे 39 मेट्रो स्टेशन

 इलाहाबाद शहर के हर हिस्से से गुजरेगी मेट्रो, 40 किमी के दायरे में बनेंगे 39 मेट्रो स्टेशन
meeting

सुझाव और सर्वे के बाद बढ़ सकती है मेट्रो स्टेशन की संख्या

इलाहाबाद. संगम नगरी का हर हिस्सा मेट्रो ट्रेन से जोड़ने की तैयारी शुरू हो गई है। इसके रूट पर अंतिम मुहर लगाने के लिये लोगों से भी राय साथ धार्मिक, शैक्षिक और पर्यटन स्थलों को भी ध्यान दिया जा रहा है। इस संबंध में गुरूवार को विभिन्न विभाग के अधिकारियों की मौजूदगी में उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र में रूट और स्टेशन को लेकर कई घंटे तक मंथन हुआ।

इस दौरान शहर में मेट्रो रूट और स्टेशन तैयार करने से पहले भविष्य की योजनाओं पर भी चर्चा हुई। मेट्रो रेल का कार्य प्रारम्भ होने से पहले लखनऊ मेट्रो रेल कार्पोरेशन, राइट्स एजेंसी और इलाहाबाद विकास प्राधिकरण की ओर से पिछले कई महीने से जिले की यातायात व्यवस्था का सर्वे किया जा रहा था। सर्वे के बाद राइट एजेंसी ने मेट्रो के लिए दो रूट निर्धारित किया। उन रूट की जमीनों का भी सर्वे किया। इस दौरान एजेंसी ने प्राकृतिक वातावरण और सोशल इम्पैक्ट का भी सर्वे किया। सर्वे की दृष्टि में उन्होंने इलाहाबाद आने वाली राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय आबादी को भी ध्यान में रखा गया जो हर साल पर्यटक के रूप में आती है। यहां लगने वाले माघ मेला और कुम्भ मेले की उस भीड को भी ध्यान रखा गया़ जो यहां हर साल संगम स्नान के लिए आते हैं। इस दौरान पावर प्वाइंट के माध्यम से मेट्रो के साथ इलाहाबाद के उन रूट को दिखाया गया, जिन रास्तों से यह गुजरेगी।

यह भी पढ़ें:

पहली बारिश में ही धंस गई डिप्टी सीएम के शहर की सड़कें, दावों की खुली पोल


प्रजेंटेशन देखने के बाद लोगों ने रखी अपनी राय
मेट्रो का प्रजेंटेशन देखने के बाद यहां मौजूद विभिन्न क्षेत्रों से जुडे लोगों ने भी अपनी राय रखी। इस दौरान ट्रिपल आईटी के अध्यापक महेश तिवारी ने राजरूपुर, कालिन्दीपुरम, झलवा, एयरपोर्ट और कौशाम्बी से आने वालों को भी मेट्रो से जोड़ने की राय दी। वहीं मुख्य सुरक्षा अधिकारी बमरौली एयरपोर्ट श्याम कार्तिक सिंह ने भविष्य मंे तैयार होने वाले नया एयरपोर्ट को ध्यान में रख बमरौली एयरपोर्ट से आगे कटौला गांव से मेट्रो सुविधा की राय दी। बिल्डर संजीव अग्रवाल ने सीएमपी डिग्री कालेज से होते हुए बालसन चैराहा तथा लोक सेवा आयोग तक मेट्रो मार्ग को जोड़ने की बात कही। यूपी चैम्बर आॅफ कामर्स के सचिव जीएस दरबारी ने सुझाव दिया कि चैफटका से पुरानी जीटी रोड, खुल्दाबाद, शाहगंज, इलाहाबाद डिग्री कालेज होते हुए यमुना ब्रिज तक तथा सिविल लाइन्स तक मेट्रो की भूमिगत परियोजना तैयार किया जाय। इस दौरान इलाहाबाद विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष भानु चन्द्र गोस्वामी ने मेट्रो रेल को इलाहाबाद के विकास में मील का पत्थर बताया। साथ ही लोगों के सुझाव पर अमल करने की बात कही। 


यह भी पढ़ें:
योगी के मंत्री के खिलाफ यहां लोगों का धरना, इस वजह से नाराज हैं लोग

40 किमी के दायरे में 40 मेट्रो स्टेशन

इलाहाबाद में मेट्रो रेल दो रूट पर चलाने की तैयारी की गई है। इसमें एक रूट बम्हरौली से झूंसी है। इस रूट में ट्रांसपोट नगर, गयासुद्दीनपुर,  मीरापट्टी, धूमनगंज, कृष्णा विहार, सुबेदारगंज, हाईकोर्ट, इलाहाबाद जंक्शन, लाॅरेंस रोड़, शमीम मार्केट, सिविल लाइन बस स्टैंड, मेडिकल चैराहा, सिविल लाइन, सीएमपी, कुंभ मेला एरिया, आजाद नगर, झूंसी सहित अन्य स्टेशन बनेंगे। इसके अलावा दूसरा रूट शांतिपुरम से लेकर नैनी तक होगा। जिसमें शांतिपुरम, गंगानगर, फाफामउ एक्सेंशन, पितांबरनगर, तेलियरगंज, एमएनएनआईटी, इलाहाबाद विवि, विवि मार्ग, कर्नलगंज, प्रीतमगंज, परेड सहित अन्य स्टेशन बनाए जाएंगे। दोनों रूट 40 किमी का दायरे में आते हैं। इस 40 किमी के दायरे में करीब 40 स्टेशन बनाने का निर्णय लिया गया है। हालांकि इस पर अभी अंतिम मुहर नहीं लग पाई है। यह बढ़ या घट भी सकता हैं।





तैयार होगा इंटीग्रेटेड प्लान
विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष भानु चन्द्र गोस्वामी ने कहा कि बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन, स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय, कलेक्ट्रेट तथा कचहरी को भी मेट्रो स्टेशनों में शामिल किया जायेगा। उपाध्यक्ष ने कहा कि दारागंज, अलोपीबाग सहित पुराने शहरों को भी मेट्रो से जोड़ा जायेगा। इलाहाबाद विकास प्राधिकरण द्वारा इंटीग्रेटेड प्लान तैयार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसी परियोजना बनायी जा रही है जिसमें ओवरब्रिज तथा पुल शामिल है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned