सावन के दूसरे सोमवार को संगम नगरी में मुस्लिम भाईयों ने पेश की मिशाल, शिव भक्तों पर की पुष्पवर्षा

सावन के दूसरे सोमवार को संगम नगरी में मुस्लिम भाईयों ने पेश की मिशाल, शिव भक्तों पर की पुष्पवर्षा
मुस्लिम समाज

Prasoon Kumar Pandey | Publish: Jul, 29 2019 06:06:56 PM (IST) Allahabad, Allahabad, Uttar Pradesh, India

-मुस्लिम समुदाय ने पेश की मिशाल

-शिव भक्तों पर पुष्प वर्षा

 

प्रयागराज। सावन के दुसरे सोमवार पर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने संगम नगरी में सामाजिक सौहार्द की मिशाल पेश की। संगम नगरी प्रयागराज के दशाश्वमेध घाट से काशी विश्वनाथ को जलाभिषेक के लिए रवाना होने वाले शिव भक्त कांवड़ियों पर शास्त्री ब्रिज पर पुष्प वर्षा किया। इस दौरान बड़ी संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने हांथों में फ़ूल की पंखुड़ियां की बारिश कांवड़ियों पर करते नज़र आये। शिवभक्तों पर पुष्प वर्षा कर रहे लोगों ने कहा की प्रयागराज की धरती आदि काल से अमन औऱ मोहब्बत क़ा पैगाम देती रही है, हम चाहते हैं की मुल्क में आपसी सौहार्द औऱ सद्भावना क़ायम रहे। उसी कड़ी में आज़ एक बार फ़िर से हम लोगों ने कांवड़ियों पर पुष्प वर्षा कर उनके आगमन पर स्वागत करते हुए कांवड़ यात्रा की शुभ कामना दी।

 

वहीं मुस्लिम समुदाय के पुष्प वर्षा कर स्वागत किए जाने से कांवड़ियों में खासा उत्साह देखने को मिला। कांवड़ियों ने कहा की आज़ जिस तरह से मुस्लिम समुदाय ने स्वागत किया है। पूरे देश के लिए मिसाल बनेगा पूरे देश भर में जहां धर्म के नाम पर लोग आपस में लड़ रहे हैं ऐसे में प्रयागराज ने एक बार फिर गंगा जमुनी तहजीब की बड़ी मिसाल कायम की है । कावड़ यात्रा पर जा रहे शिव भक्तों को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने फल हार दिया उन पर गंगाजल और अर्पित कर उनका सम्मान किया। कावड़ ले जा रहे शिव बहादुर सिंह ने कहा कि एक तरफ जहां योगी सरकार हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा कर आ रही है तो वहीं मुस्लिम भाइयों ने हम पर पुष्प वर्षा कर के हमारा दिल जीत लिया लिया।

यह भी पढ़ें -जानिए कौन है सौरभ शुक्ला ,आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा के लिए करता था काम


बता दें कि संगम नगरी से शिव भक्त बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी बैजनाथ धाम बिहार और स्थानीय शिव मंदिरों में जलाभिषेक के लिए कावड़ यात्रा करते हैं संगम नगरी में संगम घाट दशा सुमेर घाट ककरा घाट से कांवरिया संगम स्नान कर जल लेकर कावड़ यात्रा पर निकलते हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned