दो सालों से फरार है बाहुबली नेता का भाई, गिरफ्तारी के लिए लगाई गई क्राइम ब्रांच की स्पेशल टीम


दो सालों से चल रहा है फरार, गैंग 227 का है सक्रिय सदस्य

प्रयागराज। बाहुबली अतीक अहमद के गुजरात जेल जाने के बाद अतीक अहमद के पूरे गैंग पर क्राइम ब्रांच की नजर है। एसटीएफ और क्राइम ब्रांच पूर्व विधायक खालिद अजीम उर्फ अशरफ के खिलाफ बड़ी कार्यवाही करने की तैयारी में है। हालांकि क्राइम ब्रांच और एसटीएफ दो सालों से फरार अशरफ को गिरफ्तार करने का दावा करती रही है। लेकिन अभी तक योगी की पुलिस अशरफ तक पंहुचने में नाकाम रही है। अतीक अहमद के गुजरात जाने और बेटे उमर के खिलाफ सीबीआई का मुकदमा दर्ज होने के बाद के अशरफ की तलाश में क्राइम ब्रांच पूरी ताकत से लग गई है। पुलिस सूत्रों की मानें तो अशरफ की लोकेशन के लिए लगातार एक टीम लगा दी गई है।

यह भी पढ़ें

सेंट्रल जेल में अब तक की सबसे बड़ी कार्यवाही , अधिकारीयों सहित छह सौ पुलिस कर्मियों ने मारा छापा

बता दें कि अशरफ के खिलाफ कई मामले दर्ज हैं, अशरफ पर बारह हजार का इनाम घोषित है। दो साल से पुलिस अशरफ की तलाश में खाक छान रही है। लेकिन अब तक गिरफ्तार नहीं कर सकी है। जरायम की दुनियां में कहा जाता है कि यूपी में पुलिस जितना अधिकारियों की चलती है,उससे ज्यादा अतीक बंधुओं की पुलिस वाले सुनते है। पुलिस के हर एक्शन की खबर पहले से ही अशरफ के पास होती है अशरफ फरारी के दौरान भी अपने लोगों और अपने बिजनेस पार्टनरो के संपर्क में होता है इन सब के बावजूद भी पुलिस अशरफ तक पहुंचने में नाकाम होती है।

एशिया के सबसे पुराने छात्रसंघ पर ताला अब नही होगा चुनाव,कार्यपरिषद की बैठक में लगी मुहर

अतीक अहमद को चुनाव के दरमियान नैनी जेल शिफ्ट करने को लेकर जहां सरकार पर सवाल उठे थे, तो वहीं अब अशरफ के ऊपर इनाम को लेकर पुलिस विभाग सवालों के घेरे में है। बता दें कि अशरफ के खिलाफ बारह हजार का इनाम घोषित किया गया है । जिसे पिछले एक साल से बढ़ाने की कवायद चल रही है।इसके पहले जिले में तैनात तत्कालीन कप्तान नितिन तिवारी ने कहा था कि उन्होंने 50 हजार के इनाम की संतुति कर दी है,लेकिन अभी तक इस पर कोई निर्णय नहीं हुआ। वहीं सवाल यह है कि जिले में छात्र नेताओं सहित चोरी कि घटनाओं के आरोपियों पर 25. 25 हजार का इनाम घोषित किया जा रहा है। जबकि पुलिस के रिकॉर्ड में मोस्ट वांटेड अशरफ पर 12 हजार का ही नाम है। पुलिस की मेहरबानी अशरफ पर क्यों है इसका जवाब किसी के पास नहीं है।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अशरफ की गिरफ्तारी और उसकी लोकेशन ट्रेस करने के लिए स्पेशल टीम बनाई गई है। जिसमें चुनिंदा अधिकारियों और पुलिसकर्मियों को रखा गया है। इस बात का खासा ध्यान रखा गया है कि अतीक अहमद और अशरफ के नजदीक रहे पुलिसकर्मियों को टीम से दूर किया गया है।अशरफ अतीक के गैंग का इंटरस्टेट आईएस 227 का सक्रिय सदस्य है। उस पर हत्या,हत्या के प्रयास अपहरण के प्रयास जैसे संगीन मुकदमे दर्ज है। एसएसपी अतुल शर्मा का कहना है कि वांछित अशरफ के खिलाफ कार्रवाई चल रही है जल्दी में गिरफ्तार किया जाएगा।

प्रसून पांडे
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned