scriptRefuses to quash FIR registered against Mohammad Zubair | इलाहाबाद हाईकोर्ट: तीन हिंदू संतों को 'हेट मांगर' कहने पर ऑल्ट न्यूज़ के मोहम्मद जुबैर के खिलाफ दर्ज एफआईआर रद्द करने से किया इनकार , जानिए वजह | Patrika News

इलाहाबाद हाईकोर्ट: तीन हिंदू संतों को 'हेट मांगर' कहने पर ऑल्ट न्यूज़ के मोहम्मद जुबैर के खिलाफ दर्ज एफआईआर रद्द करने से किया इनकार , जानिए वजह

मामले में प्राथमिकी रद्द करने की मांग करते हुए जुबैर ने यह दावा करते हुए हाईकोर्ट का रुख किया था कि अपने ट्वीट में उन्होंने किसी वर्ग की धार्मिक आस्था का अपमान करने का प्रयास नहीं किया है। उन्होंने यह भी कहा कि एफआईआर उनके खिलाफ केवल परोक्ष उद्देश्य से उत्पीड़न के लिए मामला दर्ज किया गया था, इसलिए इसे रद्द करने योग्य है।

इलाहाबाद

Updated: June 13, 2022 02:27:16 pm

प्रयागराज: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने हाल ही में ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर की याचिका खारिज कर दी है। जिसमें उन्होंने इस महीने की शुरुआत में एक ट्वीट के लिए उनके खिलाफ दर्ज प्राथमिकी को चुनौती दी थी। उन्होंने 3 हिंदू संतों यति नरसिंहानंद सरस्वती, बजरंग मुनि और आनंद स्वरूप को 'हेट मांगर' यानी घृणा फैलाने वाला कहा था। मामले में जुबैर के खिलाफ इस महीने की शुरुआत में उत्तर प्रदेश पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 295-ए और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2000 की धारा 67 के तहत मामला दर्ज किया था।
इलाहाबाद हाईकोर्ट: तीन हिंदू संतों को 'हेट मांगर' कहने पर ऑल्ट न्यूज़ के मोहम्मद जुबैर के खिलाफ दर्ज एफआईआर रद्द करने से किया इनकार , जानिए वजह
इलाहाबाद हाईकोर्ट: तीन हिंदू संतों को 'हेट मांगर' कहने पर ऑल्ट न्यूज़ के मोहम्मद जुबैर के खिलाफ दर्ज एफआईआर रद्द करने से किया इनकार , जानिए वजह
कोर्ट से किया यह दावा

मामले में प्राथमिकी रद्द करने की मांग करते हुए जुबैर ने यह दावा करते हुए हाईकोर्ट का रुख किया था कि अपने ट्वीट में उन्होंने किसी वर्ग की धार्मिक आस्था का अपमान करने का प्रयास नहीं किया है। उन्होंने यह भी कहा कि एफआईआर उनके खिलाफ केवल परोक्ष उद्देश्य से उत्पीड़न के लिए मामला दर्ज किया गया था, इसलिए इसे रद्द करने योग्य है। जस्टिस रमेश सिन्हा और जस्टिस अजय कुमार श्रीवास्तव- I की खंडपीठ ने उनकी याचिका खारिज कर दी और नोट किया कि पूरा मामला केवल एक समयपूर्व चरण में है और पंजीकरण की तारीख पर किए गए कुछ प्रारंभिक प्रयासों को छोड़कर मामले की जांच अभी तक आगे नहीं बढ़ी है।
यह भी पढ़ें

प्रयागराज उपद्रव मामला: 70 नामजद अभियुक्तों में से 64 भेजे गए जेल, 4 नाबालिग को भेजा गया बाल गृह

मामले में सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि सबूत एक गहन जांच के बाद एकत्र किया जाना चाहिए और संबंधित कोर्ट के समक्ष रखा जाना चाहिए जिसके आधार पर संबंधित कोर्ट याचिकाकर्ता द्वारा लगाए गए आरोपों पर किसी न किसी तरह से निष्कर्ष पर आ सकता है। कोर्ट ने यह भी कहा कि मामले के रिकॉर्ड का अवलोकन करने से प्रथम दृष्टया मामला वर्तमान चरण में बनता है और मामले में जांच के लिए पर्याप्त आधार प्रतीत होता है। यह आगे ध्यान दिया जा सकता है कि जुबैर के खिलाफ हिंदुत्व संगठन राष्ट्रीय हिंदू शेर सेना के सीतापुर जिला प्रमुख भगवान शरण ने आरोप लगाया था कि जुबैर के ट्वीट से उनकी धार्मिक भावनाओं को आहत किया गया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Delhi Shopping Festival: सीएम अरविंद केजरीवाल का बड़ा ऐलान, रोजगार और व्यापार को लेकर अगले साल होगा महोत्सवMaharashtr: नासिक में 'सूफी बाबा' ख्वाजा सैय्यद चिश्ती की हत्या, सिर में मारी गई गोली, अफगानिस्तान से था नाताKaali Poster Controversy: कानाडा के म्यूजियम ने हिंदू आस्था को ठेस पहुंचाने पर मांगी माफी, नहीं दिखाई जाएगी फिल्म2024 के आम चुनाव से पहले आधार कार्ड से लिंक होगी मतदाता सूची, फार्म- 6बी भरकर करना होगा जमासीएम बनने के बाद जब पहली बार घर पहुंचे एकनाथ शिंदे, पत्नी ने खुद ढोल बजाकर किया स्वागत, वायरल हुआ VIDEOकोलकाता में मुस्लिम युवाओं ने पेश की नजीर, पुराने शिव मंदिर का किया पुनर्निर्माण, क्राउड फंडिंग कर जुटाया पैसाDomestic cylinder price: घरेलू गैस सिलेंडर महंगा, कमर्शियल सिलेंडर के दाम घटेदिल्ली सरकार का बड़ा फैसला! फूड डिलीवरी से लेकर कैब सर्विस तक, हर काम में इस्तेमाल होंगे केवल Electric Vehicles
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.