मकर संक्रांति स्नान को लेकर चप्पे -चप्पे पर पहरा , मेले में बढ़ाई गई सुरक्षा

जिला प्रशासन ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर

प्रयागराज। मकर संक्रान्ति के स्नान पर्व को लेकर मेला प्रशासन ने अपनी सभी तैयारियां पूरी करने का दावा किया है। माघ मेले के दूसरे स्नान पर्व मकर संक्रान्ति के मौके पर प्रशासन ने 80 लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं के संगम में आस्था की डुबकी लगाने का अनुमान लगाया है। 2560 बीघे में बसाये गए माघ मेले को तीन जोन और सात सेक्टरों में बांटा गया है। इसके साथ ही मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए पांच किलोमीटर के दायरे में छह स्नान घाट बनाये गए हैं। कुम्भ मेले की ही तर्ज पर स्नान घाटों पर डीप वाटर बैरिकेटिंगए जाल और घाटों पर रेत भरकर बोरियां लगायी गई हैं।

इसे भी पढ़े -संगम की रेती पर पंहुचें लंदन स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स के प्रोफ़ेसर ,जुटा रहे आस्था की जानकारियां
इसके साथ ही स्नान के बाद घाटों पर निकलने वाले श्रद्धालुओं के लिए कांसा घास भी बिछायी गई है। जबकि महिलाओं के लिए सैकड़ों की तादात में स्नान घाटों पर चेंन्जिग रुम भी बनाये गए हैं। प्रशासन ने मकर संक्रान्ति के स्नान पर्व को लेकर सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम का दावा किया है। मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को देखते हुए पुलिस ने मेले में ट्रैफिल डायवर्जन भी लागू कर दिया है। मकर संक्रान्ति के स्नान पर्व को लेकर पूरे संगम क्षेत्र में चौकसी बढ़ा दी गई है। इसके साथ ही स्नान घाटों पर सुरक्षा के मद्देनजर जल पुलिस और गोताखोरों को भी तैनात कर दिया गया है। स्नान घाटों पर एनडीआरएफ और एसडीआरएफ को भी तैनात किया गया है। मेलाधिकारी के मुताबिक माघ मेला ड्यूटी पर आये पुलिस कर्मियों की ब्रीफिंग की गई है।

इसके साथ ही मेले में बनाये गए अलग.अलग प्वाइंट्स पर पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है। मेले में सुरक्षा के लिए 13 थाने 38 चौकियां और 13 फायर स्टेशन बनाये गए हैं। जबकि मेले की सुरक्षा में विभिन्न जिलों से बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स बुलायी गई है। मेले में सिविल पुलिस के साथ ही पीएसी और आरएफ को भी तैनात किया गया है। वहीं मेले में भीड़ के चलते किसी भी आतंकी हमले की आशंका के मद्देनजर एटीएस और एसटीएफ की टीमों को भी मेले की सुरक्षा में लगाया गया है। इसके साथ ही पूरे मेले की तीसरी आंख से निगरानी के लिए दो सौ सीसीटीवी कैमरे भी लगाये गए हैं। जबकि ड्रोन कैमरे से भी मेले पर पुलिस नजर रखेगी।

जारी हुआ हेल्प लाइन नंबर
माघ मेला को सकुशल सम्पन्न कराये जाने के लिए जिला प्रशासन ने कंट्रोल रूम की स्थापना की हैए जिसका सीयूजी नं0. 8004373755, 8004373744,8004373571,8004373634 है। इस बार माघ मेला पौष पूर्णिमा के पर्व दस जनवरी से शुरु होकर 21 फरवरी को महाशिवरात्रि के पर्व तक चलेगा।

प्रसून पांडे
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned