शुआट्स निदेशक विनोद बी लाल के खिलाफ दर्ज हुई चार्जशीट, नही कम हो रही मुश्किलें

लाल बंधुओ पर करोडो के गबन सहित कई गम्भीर मामले है दर्ज

By: प्रसून पांडे

Published: 13 Mar 2018, 01:35 AM IST

इलाहाबाद सैम हिग्गिन बॉटम युनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर टेक्नॉलाजी एंड साइंस शुआट्स के निदेशक प्रशासन रहे विनोद बी लाल की मुश्किले कम नही हो रही है विनोद बी लाल के खिलाफ एक और एक और मामले में क्राइम ब्रांच ने अदालत में चार्जशीट दाखिल कर दी। साल 2017 में जार्जटाउन थाने में गबन और अनियमितता के दर्ज मामले में पुलिस ने विनोद बी लाल और डायोसिस आफ एजुकेशन बोर्ड से जुड़े तीन अन्य लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी। बता दें की विनोद लाल सहित तीनो लाल बंधुओ के खिलाफ इन दिनों अलग अलग मामलों में जाँच रही है।

2017 में शहर के जार्जटाउन थाने में बिशप जॉन अगेस्ट्रीन ने विनोद बी लाल समेत कई अन्य लोगों पर लाखों के गबन का मुकदमा दर्ज कराया था। इनपर यह आरोप था कि अनैतिक तरीके से संस्था के खाते से रुपये का गबन किया गया। डायोसिस आफ एजुकेशन बोर्ड में अनियमितता कर भर्ती की गई । परिवार के सदस्यों को नियुक्त किया गया। 50 लाख की गाड़ियां खरीदी गई। मामले की जांच जार्जटाउन पुलिस से क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई। एसपी क्राइम के मुताबिक जांच के बाद विनोद बी लाल राजेश जोस ।फ डेविड दत्ता और शशि प्रकाश के खिलाफ अदालत में आरोप पत्र दाखिल कर दिया गया।

इस मामले में पीटर बलदेव पीसी मरांडी एल्वन मसीह पीके सामंतो राय आदि के खिलाफ जांच चल रही है। बता दें कि शुआट्स प्रशासन के निदेशक वीसी आरबी लाल के भाई विनोद बी लाल इन दिनों बांदा जेल में हैं। इससे पहले क्राइम ब्रांच ने शाहगंज में दर्ज मुकदमे में विनोद बी लाल के करीबी पीटर बलदेव समेत पीसी सिंह पीके सामंतो राय सुरेश जैकब पीपी मरांडी के खिलाफ अदालत में चार्जशीट दाखिल की थी। सभी पर बिना मान्यता के स्कूल चलाने अभ्यर्थियों के पैसों में हेरफेर करने अवैध तरीके से प्रिंसिपल और टीचरों की नियुक्ति करने के आरोप हैं।

आर बी लाल विनोद बी लाल और एस लाल तीनो भाईयो पर करोडो का गबन ,बिना मान्यता के स्कूल चलाने ,कई करोड़ की ज़मीन कब्ज़ा करने गलत पते पर शास्त्र लाइसेंस कराने जैसे कई ममाले की जाँच क्राइम ब्रांच कर रहा है ,बत दें की नेने जेल में बंद बिनोद बी लाल के कचहरी पेशी पर आने के दौरान उनकी फोन से बात करने की तस्वीर वायरल हुई थी जिस पर उन्हें नैनी जेल से बाँदा जेल स्थानातरित कर दिया गया था।

प्रसून पांडे
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned