सुमित शुक्ला हत्याकांड:एक दोस्त से फोन पर बात कर फंसे सुमित के हत्यारोपी, पुलिस ने धर दबोचा

सुमित शुक्ला हत्याकांड:एक दोस्त से फोन पर बात कर फंसे सुमित के हत्यारोपी, पुलिस ने धर दबोचा

Prasoon Kumar Pandey | Publish: Nov, 10 2018 05:23:57 PM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 05:23:58 PM (IST) Allahabad, Allahabad, Uttar Pradesh, India

सर पीसी बनर्जी छ़ात्रावास में इनामी अच्युतानंद उर्फ़ सुमित शुक्ला की हत्या करने वालों को पकड़ने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी है।

 

प्रयागराज:ओपन केस होने के बावजूद आरोपी हत्या करने के बाद से फरार थे। सूबे के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के जिले की यूनिवर्सिटी में वारदात होने के बाद भी पुलिस खाली हाथ थी। मामला हाईप्रोफाइल होने के कारण सुमित के हत्यारोपियों का पकड़ने का दबाव पुलिस पर बढ़ रहा था। पुलिस भी सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर होते हुए नेपाल तक दबिश दे रही थी लेकिन आरोपी हाथ नहीं लग रहे थे। ऐसे में एक फोन कॉल ने पुलिस की राह आसान कर दी और सुमित को गोली मारने वाला सीएमपी का छात्रसंघ अध्यक्ष अपने दो साथियों के साथ पकड़ा गया। अब पुलिस तीनों से पूछताछ कर हत्याकांड के पीछे शामिल असली मास्टरमाइंड की पड़ताल करने में जुटी है।

ऐसे भागा था नेपाल
पुलिस सुत्रों के मुताबिक शुरुआती जांच में ही यह तो पता चल गया था कि आशुतोष अपने दोनों दोस्तों के साथ वाराणसी, गोरखपुर होते हुए नेपाल भाग गया है। लेकिन नेपाल में कहां यह पता नहीं चल रहा था। सभी ने भागने बाद अपने सिमकार्ड तोड़कर फेंक दिए थे और किसी से फोन पर संपर्क नहीं कर रहे थे। पुलिस ने सभी करीबियों, रिश्तेदारों और दोस्तों के नंबर सर्विलांस पर लगा रखे थे लेकिन कोई क्लू नहीं मिल रहा था। आरोपी बातचीत करने के लिए वीडियो कॉल का सहारा ले रहे थे। ऐसे में नंबर और लोकेशन पता नहीं चल पा रही थी।

पैसे खत्म होन से टूटा आशुतोष
पुलिस का बढ़ता दबाव और खत्म होते पैसे के कारण आशुतोष टूटने लगा था। उसने अपने एक दोस्त से संपर्क किया, पुलिस की निगाह पहले से ही उस दोस्त पर थी। फोन पर बात होते ही पता चल गया कि आरोपी नेपाल में छिपे हैं। पहले उनकी लोकेशन पोखरा में मिली इसके बाद यूपी की सीमा के बाद बढ़नी में उनका पता चला। बस पुलिस ने जाल बिछाकर तीनों को एक होटल से दबोच लिया। पुलिस शनिवार शाम तक तीनों से पूछताछ कर हत्याकांड के मास्टरमांइड के बारे में जानकारी जुटा रही है। पुलिस ने सुमित के हत्यारों पर 25—25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया था।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned