स्कूल से घर जा रहे बच्चे की दर्दनाक मौत ,बिजली विभाग की लापरवाही ने छीन लिया घर का चिराग

स्कूल से घर जा रहे बच्चे की दर्दनाक मौत ,बिजली विभाग की लापरवाही ने छीन लिया घर का चिराग
up

Prasoon Kumar Pandey | Updated: 06 Aug 2019, 09:24:01 PM (IST) Allahabad, Allahabad, Uttar Pradesh, India

-परिजनों का आरोप प्रबंधन की है गलती

-सरकारी विभाग सहित स्कूल पर मुकदमा दर्ज करने की मांग

-हादसे के बाद घर में मचा है कोहराम

प्रयागराज। जिले के नवाबगंज थाना थाना अंतर्गत स्कूल से घर जा रहे हो मासूम बच्चे की दर्दनाक मौत हो गई। रास्ते में बिजली के खंभे के गिरने से मासूम बच्चा हादसे का शिकार हो गया ।

मासूम बच्चा उस समय मौत के चपेट में आ गया जब वो स्कूल से घर लौट रहा था। सात साल के बच्चे की मौत की खबर सुनते उसके घर में कोहराम मच गया । मामले की जानकारी मिलते ही मौेके पर पहुंचे परिजनों ने बच्चे के शव को लेकर उसके स्कूल पहुंच गये । परिजनों ने स्कूल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाकर शव को रखकर विरोध प्रदर्शन करने लगे ।

इसे भी पढ़ें -#careertips: मीडिया में बनायें करियर, जानिये क्या है चुनौतियां

बच्चे के परिजनों का आरोप है कि स्कूल की छुट्टी के बाद स्कूल वालों ने बच्चे को घर तक पहुंचाने की बजाय बीच रास्ते में ही छोड़ दिया गया । जहां से घर जाते समय बिजली का खंभा गिरने से बच्चा उसके नीचे दब गया जिससे उसकी मौत हो गयी ।

परिजनों ने स्कूल प्रशासन के साथ ही बिजली विभाग पर लापरवाह तरीके से खंभा लगाने का आरोप लगाया है।बच्चों के परिजनों द्वारा विरोध प्रदर्शन किये जाने की जानकारी मिलते ही मौके पर कई थानों की फोर्स पहुंच गयी । पुलिस परिजनों को समझाकर मामले को शांत कराया।

नवाबगंज थानाध्यक्ष संतोष दुबे ने बताया कि ऋतिक निर्मल पास के एक निजी कान्वेंट स्कूल में पढ़ता था पिता रोशन लाल भी खेती बाड़ी का काम करते हैं उन्होंने कहा कि मामला उच्चाधिकारियों के संज्ञान में है जांच की जा रही है जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

जाँच का विषय यह भी है की स्कूल में एडमिशन के समय बच्चे के माता पिता से स्कूल प्रबंधन ने बच्चे को स्कूल ले जाने और घर तक पहुचाने की बात की थी या नही, वही बिजली विभाग के कामों की एक बार फिर पोल खुली है और लापरवाही का अंजाम ये हुआ की बच्चे की मौत हो गई । स्थानीय लोगो सहित परिजनों की मांग है स्कूल प्रबंधन और बिजली विभाग दोनों के खिलाफ कार्यवाही की जाये ।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned