#Kumbh2019: कुंभ मेले में लगी आग, चेहरे पर खौफ और भगदड़ से खाली हुआ टेंट

#Kumbh2019: कुंभ मेले में लगी आग, चेहरे पर खौफ और भगदड़ से खाली हुआ टेंट

Ashish Kumar Shukla | Publish: Jan, 14 2019 07:33:21 PM (IST) Allahabad, Allahabad, Uttar Pradesh, India

पुलिस थाने से 400 मीटर दूर एक पांडाल में उठी आग और धमाकों ने संतों के चेहरे पर दिखाया खौफ तो प्रशासन की उड़ाई नींद

सुधीर पंडित
प्रयागराज. कुंभ मेेले में सेक्टर 15 में दोपहर 12 बजे तक तो सबकुछ सामान्य था। कुछ देर बाद एक पांडाल से धुंआ उठना शुरू हुआ और दो धमाके हुए तो लोग उस पांडाल की तरफ भागना शुरू हो गए। अखाड़ा थाना से 400 मीटर दूर बने अभा श्री पंच दिगंबर अनी अखाड़ा की तरफ धुंआ देकर चारों तरफ से लोग भागना शुरू हो गए।
शाही स्नान के एक दिन पहले जिस अखाड़ा में मुख्य मंदिर योगी ने ध्वज पूजन किया था और पूरे सेक्टर में अपनी शान और शौकत से खड़ा अखाड़ा सोमवार को आग की भेंट चढ़ गया।

पूरे पांडाल में आग-आग चिल्लाते हुए भगदड़ मच गई। आसपास के लोगों ने पुलिस और फायर बिग्रेड कर्मचारियों के साथ लकडिय़ों से पतरों को तोडक़र अंदर घुसा। आग की चपेट में जो तंबू नहीं आए और आग आगे नहीं बढ़े इसके लिए अंदर घुसते ही तंबू गिराना शुरू कर दिए। तंबू के अंदर की गैस टंकियां और परिसर में खड़ी गाडिय़ों को ताबड़तोड बाहर निकालना शुरू कर दिया। पांडाल के संत और अधिकारियों में खौफ था कि जिस तरह से तेज हवा चल रही है उसे कहीं आसपास के पांडाल आग की चपेट में न आ जाए।

फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों ने पांडाल को चारों तरफ से घेरकर पतरंों की शीट की बाउंड्रीवाल को तोडक़र काबू करने का प्रयास किया। प्रशासन ने तब चेन की सांस ली जब हवा कुछ देर के लिए बंद हो गई। धमाके के बाद जहां पूरा क्षेत्र खाली हो चुका था वहीं फायरकर्मियों के पीछे संतो के साथ ही कुछ लोगों ने भी अंदर घुसने की हिम्मत जुटाई। तेजी से सभी पांडालों की आग पर काबू पाने के लिए शीट को हटाया गया। आग पर काबू पाने के बाद संतों ने अपना सामान तलाशना शुरू किया। संतो के एटीएम, जले हुए नोट, दस्तावेज सहित कई महत्वपूर्ण सामग्री तलाशना शुरू की। नुकसान होने का गम कम था पर सरकार से शाही स्नान को लेकर जल्दी पांडाल तैयार कर दें।

लगभग 25 तंबू में कई संत रह रहे थे जिनका अधिकतर सामान जल गया था। लगभग एक घंटे में आग पर काबू पाने के बाद स्थिति सामान्य हो गई। आसपास के संत जरूर अग्निकांड को देखने और सांतवना देने के लिए पहुंच रहे थे। संतो का कहना था कि लगभग 25 लाख रुपए का नुकसान हुआ है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned