बाइक से पानी की छींटा पड़ने का किया था विरोध, अपराधियों ने मारी गोली

 बाइक से पानी की छींटा पड़ने का किया था विरोध, अपराधियों ने मारी गोली
Murder case Revealed

11 माह पहले हुई हत्या का पुलिस ने किया खुलासा, दो आरोपी गिरफ्तार

इलाहाबाद. रेलवे पर टीटीई पद पर कार्यरत वीरेंद्र कुमार चौधरी की हत्या के मामले में पुलिस ने बुधवार को अहम खुलासा किया। पुलिस के अनुसार टीटीई को महज इस लिए गोली मार दी गयी थी कि उसकी बाइक से पानी का छींटा पड़ गया था। घटना करीब 11 महीने पहले की है। मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है।


यह भी पढ़ें:

स्लाटर हाउस मामले में योगी सरकार को हाईकोर्ट का एक और बड़ा झटका


वीरेंद्र कुमार चौधरी पुत्र राम शंकर रेलवे में टीटीई पद पर कार्यरत थे। 26 अगस्त 2016 की रात वो ड्यूटी करके वो अपने घर जा रहे थे। शेरवानी मोड़ पर उनकी गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी। करीब साल भर से आरोपी फरार थे। आरोपियों को पकड़ने के लिए एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने दो टीमें गठित की थी। मंगलवार शाम को मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने हत्या से जुड़े इमरान और मंजीत सोनकर को सूबेदारगंज स्टेशन के पास घेराबंदी कर गिरफ्तार कर लिया।





मंजीत ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि वारदात की रात उसके साथ इमरान के अलावा रोहित, मुकुन्द व शोएब थे। उन्होंने पुलिस को बताया कि 26 अगस्त 2016 की रात रोहित के घर पर शराब पी। शराब पीने के बाद सभी लोग दो मोटरसाइकिल पर सवार होकर सूबेदारगंज की ओर से जयरामपुर होते हुए शेरवानी मोड़ की तरफ आ रहे थे। टीटीई वीरेंद्र चौधरी पैदल अपनी ड्यूटी पर जा रहे थे। इस दौरान उनके ऊपर मोटरसाइकिल से जमीन पर जमा पानी का छीटा पड़ गया। जिसका उसने विरोध किया। इसी बात पर दोनों पक्षों में वादविवाद हो गया। इसी बीच रोहित और मुकंद ने वीरेंद्र चौधरी को पकड़ लिया और शोएब ने तमंचे से उसके सिर में गोली मार दी। इसके बाद ये सभी फरार हो गए। पुलिस के अनुसार अन्य आरोपी पहने से किसी अन्य मामलों में जेल में बंद हैं। वही अब इन दोनों को भी जेल भेजा जा रहा रहा है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned