कुम्भ 2019 टोल टैक्स फ्री, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का ऐलान

कुम्भ 2019 टोल टैक्स फ्री, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का ऐलान
योगी आदित्यनाथ

Mohd Rafatuddin Faridi | Updated: 20 May 2018, 10:03:19 AM (IST) Allahabad, Uttar Pradesh, India

कुम्भ नगरी प्रयाग में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए सौगात, अब कुम्भ में नही देना होगा टोल टैक्स।

 

प्रसून पाण्डेय
इलाहाबाद. संगम नगरी में लगने वाले दिव्य भव्य कुम्भ को सवारने में लगी सरकार के मुखिया योगी आदित्य नाथ ने कहा है कि पहली बार कुम्भ मेले के साथ पूरे प्रयाग को संवारने का काम तेजी से किया जा रहा है। प्रयाग पहुंचे योगी ने श्रद्धालुओं के लिए बड़ी सौगात दी। उन्होंने कुम्भ के दौरान प्रयाग आने वाले मार्गो पर टोल टैक्स फ्री कर दिया। सीएम ने प्रशासन के अधिकारियों को इस निर्देश के पालन कराने को कहा है।


प्रयाग दौरे पर आये सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा की प्रयाग को देश के हर कोने से रेल और सड़क मार्ग से जोड़ा जा रहा है। इसलिए कुम्भ के समय में प्रयाग आने वाले मार्गों पर टोल टैक्स न लिया जाय। प्रयाग तक विशेष ट्रेनें चलाने के साथ-साथ इलाहाबाद को देश के प्रमुख राज्यों और शहरों से को वायु मार्ग से भी जोड़ा जा रहा है। उन्होंने सभी देश वासियों का आवाहन करते हुए कहा कि कुम्भ आयोजन को सुन्दर बनाने से प्रयाग की महिमा का गुणगान होगा, यह हमारे साथ साथ प्रयाग वासियों के लिए भी सौभाग्य का विषय है।


सीएम ने गंगा जल की स्वच्छता के पर कहा कि कुम्भ के दौरान गंगा-यमुना में जो जल आयेगा, वह शुद्ध व स्वच्छ होगा। श्रद्धालुओं को पूरे कुम्भ स्नान में शुद्ध गंगा जल मिलेगा। 15 दिसम्बर 2018 से 15 मार्च 2019 तक गंगा, यमुना और उनकी सहायक नदियों में कोई कचरा नहीं प्रवाहित होगा। साथ ही श्रद्धालुओं को पूरी तरीके से शुद्ध जल स्नान के लिए प्राप्त होगा। अखाड़ा परिषद के महात्माओं और सभी अधिकारियों को आवाहन करते हुए कहा कि यह एक भव्य एवं दिव्य आयोजन है। इसमें देश और दुनिया से आने वाले श्रद्धालुओं के आतिथ्य के लिए न केवल प्रयाग के नागरिक बल्कि अखाड़ों के संत, महात्मा और प्रशासन के लोग भी पूरे मनोयोग से तैयार रहें।


सीएम ने कहा की इस आयोजन से हमें पूरे भारत की छवि को दुनिया के सामने निखारने का एक सुअवसर और सौभाग्य मिलेगा। कुम्भ के दौरान हमें पूरे भारत को एक स्वच्छ और सुसंस्कृत देश के रूप में पूरी दुनिया को दर्शाना है। इस बार 15 दिसम्बर से 15 मार्च के बीच कुम्भ के दौरान देश के छह लाख गांवों के लोग इस आयोजन में आएंगे और इस उत्सव को देखने के लिए दुनिया के 192 देशों के लोग पहुंचेंगे।

 

इसे देखते हुए प्रयाग नगरी को सजाने की तैयारी अभी से पूरी कर ली जाय। मुख्यमंत्री ने कहा कि मेला क्षेत्र में ही नही बल्कि पूरे प्रयागराज में कहीं गंदगी न रहे। हर चैराहा विशिष्ट सांस्कृतिक कार्यक्रमों से गुलजार रहे। प्रयागराज में जितने भी धर्म स्थल हैं, उनका विकास इस तरह हो की उनको देखकर हर पर्यटक और तीर्थयात्री को कुम्भ की दिव्यता का आभास हो।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned